पासपोर्ट में होने जा रहा है बड़ा बदलाव

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि सरकार पासपोर्ट नियमों के सरलीकरण के अगले चरण में इलेक्ट्रॉनिक चिप आधारित ई-पासपोर्ट शुरू करेगी और इसके लिए वैश्विक पासपोर्ट सेवा नेटवर्क तैयार किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि पासपोर्ट के साथ-साथ वीजा से जुड़े नियमों को भी सरल किया जा रहा है। ई-वीसा की सुविधा मिलने से समय की बचत भी हो रही है और परेशानियां भी कम हुई हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को यहां 15वें प्रवासी भारतीय दिवस समारोह का उद्घाटन करने बाद अपने संबोधन में यह घोषणा की।

समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविन्द्र जगन्नाथ उपस्थित थे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह उपस्थित थे।

अपने सम्बोधन में प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीय समुदाय का भारत के शोध, अनुसंधान एवं नवान्वेषण में बड़ी भूमिका निभाने का आह्वान करते हुए कहा कि बदलते हुए इस भारत में आप रिसर्च एंड डेवलपमेंट और नवान्वेषण में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। सरकार ये भी कोशिश कर रही है कि भारत के स्टार्ट-अप और उनके प्रवासी भारतीय संरक्षक को एक साथ, एक प्लेटफॉर्म पर लाए।

उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में विनिर्माण भी प्रवासी भारतीय समुदाय के लिए काम करने के लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र हो सकता है।

प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीयों के लिए सरकार की ओर से दी जा रही सहूलियतों का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार का पूरा प्रयास है कि आप सभी जहां भी रहें सुखी रहें और सुरक्षित रहें। साढ़े चार वर्षों के दौरान संकट में फंसे दो लाख से ज्यादा भारतीयों को सरकार के प्रयासों से मदद मिली है। उन्होंने कहा कि प्रवासियों की सामाजिक सुरक्षा के साथ-साथ पासपोर्ट, वीजा, पीआईओ और ओसीआई कार्ड को लेकर भी तमाम प्रक्रियाओं को आसान करने का प्रयास सरकार कर रही है।

सरकार ने पीआईओ कार्ड को ओसीआई कार्ड में बदलने की प्रक्रिया को भी आसान बनाया है। उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीयों के लिए कुछ महीने पहले ही एक नया कदम भी उठाया गया है। दुनियाभर में हमारे दूतावासों एवं मिशनों को पासपोर्ट सेवा प्रोजेक्ट से जोड़ा जा रहा है। इससे आप सभी के लिए पासपोर्ट सेवा से जुड़ी एक केन्द्रीकृत व्यवस्था तैयार हो जाएगी। बल्कि अब तो एक कदम आगे बढ़ते हुए चिप आधारित ई-पासपोर्ट जारी करने की दिशा में भी काम चल रहा है।

उन्होंने बताया कि पासपोर्ट के साथ-साथ वीजा से जुड़े नियमों को भी सरल किया जा रहा है। ई-वीसा की सुविधा मिलने से समय की बचत भी हो रही है और परेशानियां भी कम हुई हैं। उन्होंने कहा कि अभी भी जो कोई समस्याएं इसमें हैं तो उसके सुधार के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने प्रवासी भारतीयों से आग्रह किया कि वे जिस भी देश में रहते हैं, वहां से अपने आसपास के कम से कम पांच परिवारों को भारत आने के लिए प्रेरित करिए। आपका ये प्रयास, देश में पर्यटन बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएगा।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *