China सेना की धमकी का जवाब कब देगा India ?

indiachinaइंटरनेशनल डेस्क। डोकलाम, दो देशों के लिए वर्चस्व की जंग बनता जा रहा है। भारत की तरफ से इस विवाद के शांतिपूर्ण हल खोजने के प्रयास को चीन कमजोरी के रूप में देख रहा है और उसका धमकी भरा अंदाज जारी है।

इस बार धमकी देने की बारी चीनी सेना ने की है। चीनी सेना पीएलए की ओर से कहा गया है कि संयम की सीमा समाप्त हो रही है, और भारत को फौरन पीछे हट जाना चाहिए। पीएलए की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि चीन अपनी सीमा की रक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है।

चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता और पीएलएन के कर्नल रेन गुओकियांग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि चीन ने गुडविल दिखाते हुए इस मामले पर अभी कूटनीतिक हल का रास्ता अपनाया है। लेकिन इसकी भी एक सीमा है और संयम खत्म होने की ओर है।

चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने उल्टे भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत को इस भ्रम से खुद को निकाल देना चाहिए कि देर करने से डोकलाम समस्या का हल हो जाएगा। धमकी देते हुए चीनी सेना के प्रवक्ता ने कहा कि चीन की जमीन को कोई भी देश ले नहीं सकता। चीनी सेना अपने भूभाग और संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी तरह सक्षम है।

50 दिनों से सिक्किम सेक्टर के पास भारत-चीन-भूटान के बीच ट्राईजंक्शन पर जारी तनाव और भारत-चीन की सेनाओं के आमने-सामने डटने के बीच चीन की ओर से लगातार धमकी भरी भाषा का इस्तेमाल किया जाता रहा है। हाल ही में भारत में स्थित चीनी दूतावास की ओर से 15 पेज का बयान जारी किया गया था जिसमें डोकलाम में भारत की मौजदूगी को गलत ठहराने की कोशिश की गई थी।
इससे पहले चीन ने बीजिंग में स्थिति विदेशी दूतावासों, सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देशों के प्रतिनिधियों और जी-20 के प्रतिनिधियों को डोकलाम में भारत के खिलाफ फर्जी सबूत पेश कर भड़काने की कोशिश कर चुका है।

India का यह है स्टैण्ड

गुरुवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में चीन के मामले पर बयान दिया और कहा कि युद्ध कोई विकल्प नहीं। भारत-चीन और भूटान इस मामले का समाधान बातचीत से निकालेंगे। सुषमा स्वराज ने कहा कि भारत अपने सम्मान की रक्षा के लिए तैयार है लेकिन शांति को प्राथमिकता देना हमारी नीती है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चीन को डोकलाम इलाके को लेकर 2012 के त्रिपक्षीय समझौते के पालन की सलाह भी दी।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *