राजपत्रित अधिकारी का बेटा निकला सुपारी किलर

लखनऊ। राजधानी में हत्या और हत्या की साजिश आम बात है। लेकिन जब हत्या की साजिश रचने वाला किसी वीआईपी का सुपुत्र हो तो यह चौंकाने वाली बात है। ऐसा ही एक खुलासा करते हुए राजधानी पुलिस ने सबको चौंका दिया है। पुलिस ने पीजीआई थानान्तर्गत विगत 8 अगस्त को टाइल्स मिस्त्री राजेश रावत की हत्या के मामले में ऐसे युवक को गिरफ्त में लिया है कि सबकी आंखे फटी की फटी रह गयीं। खुलासे में मालूम चला कि हत्या करने वाला एक राजपत्रित अधिकारी का सुपुत्र है। उसके साथ पांच अन्य युवकों को भी पुलिस ने गिरफ्त में लिया है।

इसका खुलासा करते हुए राजधानी के एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि आगरा के एडीएम (फूड एवं सिविल सप्लाई) नरेंद्र सिंह के बेटे यथार्थ सिंह उर्फ अमित उर्फ आर्यन समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसने मृतक राजेश के बेटे से एक लाख की सुपारी लेकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया था।

एडीएम के बेटे आर्यन ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर भाड़े पर हत्या की थी। वहीं मृतक राजेश के बेटे गुलशन ने आर्यन को एक लाख सुपारी देकर अपने पिता की हत्या की साजिश रची थी।

आरोपी आर्यन और उसके साथियों ने हत्या की वारदात में चोरी की कार का प्रयोग किया था, जिसे घटना के बाद चिनहट क्षेत्र में जला दिया था। पुलिस ने इस हत्या के मामले में एडीएम का बेटा आर्यन, गुलशन समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि पुलिस टीम ने एडीएम नरेंद्र सिंह के बेटे को गोमतीनगर के विभूतिखंड इलाके से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से 11 हजार रुपये व मोबाइल फोन बरामद किया है जबकि घटना में प्रयुक्त जली हुई कार भी बरामद की है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *