Women के प्रति Crime Yogi सरकार में बढ़े, 17 फीसद का हुआ इजाफा

लखनऊ। ‘न गुण्डा गर्दी, न भ्रष्टाचार’, ‘बहन-बेटियों की सुरक्षा के लिए एण्टी रोमियो स्क्वायड’ कुछ ऐसे ही नारों के बल पर भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की सत्ता प्रचण्ड बहुमत के साथ हासिल की थी। लेकिन सूचना के अधिकार के तहत जो उत्तर दिया गया है उसके आंकड़े चौंकाने वाले है। आंकड़े चीख-चीखकर गवाही दे रहे हैं कि आदित्यनाथ योगी सरकार महिला अपराध रोकथाम मामले में अपनी पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार से भी फिसड्डी रही है।

इतना ही नहीं महिलाओं के प्रति अपराधों में भाजपा सरकार में 17 फीसदी की वृद्धि हुई है। यह भी खुलासा हुआ है कि बसपा मुखिया मायावती के कार्यकाल में महिलाओं के खिलाफ मासिक अपराध दर सबसे कम थी।

राजधानी लखनऊ के आरटीआई एक्टिविस्ट इंजीनियर संजय शर्मा द्वारा मांगी गयी सूचना पर उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग के जबाब से अब यह चैंकाने वाला खुलासा हुआ है।

श्री शर्मा के मुताबिक दी गयी आरटीआई पर दिए गए उत्तर के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के 13 मई 2007 से 14 मार्च 2012 तक के 58 माह के कार्यकाल में महिला आयोग को 97542 शिकायतें प्राप्त हुईं जो शत-प्रतिशत निस्तारित कर दीं गईं।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के 15 मार्च 2012 से 18 मार्च 17 तक के 60 माह के कार्यकाल में महिला आयोग को 1,79,764 शिकायतें प्राप्त हुईं जिनमें से 1,63,624 अर्थात 91 प्रतिशत निस्तारित कीं गईं। श्री शर्मा बताते हैं कि सूबे के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 19 मार्च 2017 को कार्यभार ग्रहण करने के बाद 16 जून 2017 तक के तीन माह के कार्यकाल में महिला आयोग में कुल 10,517 शिकायतें दर्ज हुईं जिनमें से महज 2829 अर्थात 27 प्रतिशत ही निस्तारित हुईं हैं।

इंजीनियर संजय शर्मा बताते हैं कि उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग को पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के कार्यकाल में प्रतिमाह 1682 शिकायतें प्राप्त हुईं जो पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समय में बढ़कर प्रतिमाह 2996 हो गईं और अब वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समय में पुराने रिकॉर्ड तोड़कर 3506 प्रतिमाह हो गईं हैं जो वर्तमान भाजपा सरकार को महिला सुरक्षा पर कटघरे में खड़ा कर रही हैं।

मायावती के समय में महिलाओं की शिकायतों की शत-प्रतिशत निस्तारण दर का अखिलेश के समय में घटकर 91 प्रतिशत पर आ जाने और योगी के समय महज 27 प्रतिशत रह जाने और अखिलेश के मुकाबले योगीराज में 17 प्रतिषत महिला अपराध बढ़ जाने पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए मानवाधिकार कार्यकर्ता संजय शर्मा ने योगी से महिला सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर गंभीरता से काम करने और संवेदनशील रवैया अख्तियार करने की मांग की है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *