चोरी के आरोपी की लाश हवालात में लटकती मिली

जालौन । कोतवाली चुर्खी में चोरी के आरोप में बंद आरोपी ने कोतवाली की हवालात में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि युवक ने पुलिस प्रताड़ना से परेशान होकर फांसी लगाई है जबकि पुलिस ने परिजनों के आरोप को निराधार बताया है।

जानकारी के मुताबिक कोतवाली चुर्खी के गांव सिकरी निवासिनी अनीता पत्नी बलवीर सिंह ने शिकायती पत्र देकर गांव की ही युवक मुनीश्वर पुत्र वकील सिंह (30) के खिलाफ अवगत कराया की युवक ने घर में रखे हमारे सोने चांदी के जेवरात चुरा लिए हैं।

वादिनी अनीता सिंह की शिकायत पर कोतवाल आनंद कुमार सिंह ने पुलिस बल भेजकर आरोपी को कोतवाली बुलाया और पूछताछ की पूछताछ के बाद ज्ञात हुआ कि आरोपी ने चोरी के जेवरात एक स्थानीय सुनार को बेचे हैं। जिसके बाद चोरी के जेवरातों को वापस करवाने की कार्रवाई चल रही थी।

इसी दौरान बीती रात में आरोपी युवक को पुलिस स्टाफ ने रात खाना खिलवा कर हवालात में बंद कर दिया रात्रि लगभग 11 बजे हवालात चिल्लाने की आवाज आई आवाज सुनकर मौके पर मौजूद पहरे में तैनात सिपाही ने देखा की हवालात में आरोपी गायब है तो आवाज कहां से आ रही है जैसी ही पहरे पर तैनात सिपाही ने देखा की आरोपी मुनीश्वर बाथरूम में है तो बाथरूम खोला तो देखा कि आरोपी मैं अपनी शर्ट से फांसी का फंदा बनाकर फंदे पर लटका हुआ है।

तत्काल आरोपी को फांसी के फंदे से उतारा और जिला अस्पताल उरई ले गए जहां पर डाक्टरों ने आरोपी को मृत घोषित कर दिया इसकी सूचना पुलिस ने परिजनों को दी सूचना मिलते ही सिकरी निवासी वकील सिंह अपने पूरे परिवार के साथ कोतवाली चुर्खी पहुंच गए रविवार सुबह लगभग चार बजे से ही कोतवाली परिसर में भीड़ इकट्ठा होने लगी मौके पर देखते ही देखते पूरा कोतवाली क्षेत्र छावनी में बदल गया पुलिस अधीक्षक स्वामी प्रसाद का कहना है की पुलिस ने मृतक को बिल्कुल ही प्रताड़ित नहीं किया है।

एसपी जालौन ने एक महिला समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर लिया है तथा कोतवाल आनंद कुमार सिंह को निलंबित कर दिया है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *