आपराधिक मामला लंबित होने से नहीं मिलेगा राजू को द्रोणाचार्य पुरस्कार, खेल रत्न व अर्जुन पुरस्कार में बदलाव नहीं

नयी दिल्ली। खेल मंत्रालय ने पैरा खेलों के कोच व वर्तमान में एक आपराधिक मामले में लंबित सत्यनारायण राजू का नाम इस वर्ष द्रोणाचार्य पुरस्कार से हटा दिया है। वहीं दूसरी ओर अर्जुन पुरस्कार और खेल रत्न पुरस्कार की सूची में अबतक कोई बदलाव नहीं किया गया है ।

इसके मायने यह है कि टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना और भारोत्तोलक संजीता चानू को अर्जुन पुरस्कार नहीं मिल सकेगा ।

खेल मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया , हमने सत्यनारायण का नाम सूची से हटा दिया है क्योंकि उसके खिलाफ एक मामला लंबित है । सत्यनारायण रियो पैरालम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले मरियाप्पन थंगावेलू के कोच रह चुके हैं । समझा जाता है कि द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिये उनका नाम दिये जाने की लोगों ने आलोचना की थी ।

खेलमंत्री विजय गोयल से मंजूरी मिलने के बाद पुरस्कार विजेताओं को E.Mail भेज दिये गए हैं । चयन समिति ने अर्जुन पुरस्कार के लिये दो पैरा एथलीट समेत 17 खिलाड़ियों के नाम की अनुशंसा की थी जबकि खेलरत्न हाकी खिलाड़ी सरदार सिंह और पैरा एथलीट देवेंद्र झझारिया को दिया जायेगा ।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने खेलरत्न के लिये पैरा एथलीट दीपा मलिक का नाम शामिल करने का अनुरोध किया था लेकिन मंत्रालय ने सूची में कोईबदलाव नहीं किया ।

इस पर भी बहस हुई कि रोहन बोपन्ना को सूची में शामिल किया जा सकता है या नहीं जिनका नाम एआईटीए ने देर से भेजा था । बोपन्ना की उपलब्धियां साकेत माइनेनी से अधिक है जिसके नाम की अनुशंसा अर्जुन पुरस्कार के लिये की गई ।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *