…अब अलगाववादी गिलानी के सहयोगी पर N.I.A. का शिकंजा

NIA

नई दिल्ली। आॅपरेशन हुर्रियत के तहत एक के बाद एक अलगाववादियों पर नकेल कसने की कड़ी में NIA ने आज एक बार फिर जम्मू में छापेमारी की। विश्वस्त सूत्रों की माने तो 2 जगहों पर छापेमारी जारी है। छापेमारी देविंदर सिंह बहल नाम के संदिग्ध के नाम से जुड़ी हुयी है। जानकारों की माने तो देविंदर सिंह बहल अलगावादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का सहयोगी बताया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, विगत 2013 में देविंदर सिंह बहल अपने एक जम्मू कश्मीर के रहने वाले सहयोगी के साथ पाकिस्तान गया था। दोनों पर फॉरेन एक्ट के तहत मामला दर्ज है।

वहीं इससे पहले 3 जून की गई एनआईए की छापेमारी में सैयद अली शाह गिलानी के हस्ताक्षर किया हुआ हुर्रियत का कैलेंडर मिला है।अलगाववादी अल्ताफ शाह फंटूश के घर से हुर्रियत का कैलेंडर बरामद हुआ।

-4 अगस्त 2016: कैलेंडर में सेना और सुरक्षाबलों के खिलाफ धरना प्रदर्शन और लोगों को भड़काने की साजिश।

-6 अगस्त 2016: लोगों को लोकल चौक और अलग-अलग जगह पर इकट्ठा होने को कहा गया, धरना प्रदर्शन की अपील।

-8 अगस्त 2016: श्रीनगर के तरफ जाने वाली सभी सड़कों को ब्लॉक करना और लोगों को ड्यूटी ज्वाइन करने से रोकना और सभी को फोन कर कर के इस बात का दवा बनाना क्यों ऑफिस ना जाए।

-9 अगस्त 2016: औरतों से अपील कि वह असर से मगरिब तक प्रदर्शन में शामिल हो और जगह-जगह इस्लामिक और आजादी के गाने मस्जिदों से बजाये जाए।

-10 अगस्त 2016: जम्मू-कश्मीर में तैनात सभी सुरक्षाबलों को लेटर दिया जाए और उसे कहा जाए कि वह यहां से वापस जाएं।

-11 अगस्त 2016: सभी भारत समर्थित राजनेताओं और सरपंचों से यह कहा जाए कि वह अपने पदों से त्यागपत्र दे और अपने अपने दरवाजे पर अपने त्यागपत्र की कॉपी चिपकाएं।

-12 अगस्त 2016: आजादी के समर्थन में सभी इमाम को यह कहा गया कि मस्जिदों में लोगों को आजादी के लिए जागरूक करें और मस्जिद के दरवाजे पर आजादी के पोस्टर चिपका कर रखें।

-13 अगस्त 2016: काले झंडे लेकर के प्रदर्शन में शामिल हों।

-14 अगस्त 2016 पाकिस्तानी डे: इस दिन पाकिस्तान के लिए स्पेशल प्रयोग किए जाएं. नमाज की जाए और हर मस्जिद में पूरे दिन गाने बजाए जाएं।

-15 अगस्त 2016: जम्मू कश्मीर में ब्लैक डे मनाया जाए. काले झंडे लेकर राजदूत कार्यालय के सामने प्रदर्शन हो। अपने घरों के ऊपर भी काले झंडे रखें। दुकान मार्केट और हर चौराहे पर काले झंडे लगाए जाएं।

– 16 अगस्त: औरतें प्रदर्शन में शामिल हों और आजादी के मस्जिदों में तराने और गाने बजे।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *