N.I.A. ने Terror Funding  करने वालों के 12 ठिकानों पर की छापेमारी

NIAश्रीनगर। देश की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के तेवर नरम पड़ने का नाम नहीं ले रहा। जिससे नतीजा यह हो रहा कि आतंक की फंडिंग करने वाले शिकंजे में कसते चले जा रहे हैं।

आज ही एनआईए ने एक बार फिर बुधवार को जम्मू-कश्मीर में 12 जगह छापेमारी की है। जिसमें श्रीनगर, हंदवाड़ा, बारामूला में छापेमारी की गई है। छापेमारी के दौरान संदिग्धों से पूछताछ भी की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, श्रीनगर में रहने वाले कारोबारी के दो ठिकानों पर छापेमारी की गई है। छापेमारी अब अभी भी जारी है। आतंकी फंडिंग मामले में एनआईए की टीम अब तक कई अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ कर चुकी है। एनआईए ने करीब 20 दिनों तक अलगाववादी नेताओं से पूछताछ की थी। पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं, जिसको लेकर एनआईए की जांच जारी है। पिछली सुनवाई में हुर्रियत नेता गिलानी के दामाद अल्ताफ फंटूश समेत मेहराजुद्दीन कलवाल, पीर सैफुल्लाह और नईम खान को कोर्ट ने 28 अगस्त तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है। गौरतलब है कि कश्मीर में टेरर फंडिंग को लेकर कुल 7 अलगाववादी नेताओं को पिछले महीने एनआईए की टीम ने गिरफ्तार किया था।

इनमें से तीन नेताओं से लगातार 10 दिन तक एनआईए ने पूछताछ की। एनआईए इन्हीं नेताओं से आगे भी पूछताछ करना चाहती थी। लिहाजा, कोर्ट ने बीते 4 अगस्त को तीन नेताओं को 30 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। एनआईए ने कोर्ट में दलील दी कि जब से इनकी गिरफ्तारी हुई है, घाटी में पत्थरबाजी की घटनाओं में खासा कमी आई है। आतंकियों फंडिंग मामले में अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के बड़े बेटे और पेशे से डॉक्टर नईम और छोटे बेटे नसीम से एनआईए की टीम ने (08 अगस्त) मंगलवार को पूछताछ की है। नसीम कश्मीर स्थित कृषि विश्वविद्यालय में कार्यरत है। मामले के तार जमात उद-दावा प्रमुख और मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज मुहम्मद सईद से भी जुड़े हैं।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *