Mulayam ने रामगोविंद सहित अखिलेश के चार करीबी को लोहिया ट्रस्ट से हटाया

lohiyaलखनऊ । समाजवादी पार्टी के शीर्ष यादव परिवार में छिड़ी रार थमती नजर नहीं आ रही है। इस साल के शुरूआत में जहां अखिलेश यादव ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया वहीं मंगलवार को पार्टी के संरक्षक बनाये गए मुलायम सिंह यादव ने लोहिया ट्रस्ट से अखिलेश यादव सहित चार लोगों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

खांटी समाजवादी नेताओं में शुमार होने वाले मुलायम सिंह यादव की अध्यक्षता में लोहिया ट्रस्ट की यहां बैठक हुई। बैठक में श्री यादव के अनुज एवं पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव व पूर्व सांसद भगवती सिंह के अलावा कई अन्य समाजवादी नेता मौजूद थे। जबकि बैठक की सूचना देने के बावजूद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रो. रामगोपाल यादव नहीं आये।

मुलायम सिंह यादव ने बैठक के बाद अखिलेश यादव के बेहद करीबी तथा विधानसभा में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी के साथ ही विधान परिषद सदस्य व पूर्व मंत्री अहमद हसन, उषा वर्मा व आलोक शाक्य को लोहिया ट्रस्ट से हटा दिया है।

बैठक के बाद शिवपाल सिंह यादव ने अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव के नहीं आने को उनकी व्यस्तता से जोडने की कोशिश की। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) की अध्यक्षता में ट्रस्ट की बैठक हुई।

इसमें राम मनोहर लोहिया के विचार के प्रचार पर विस्तार से चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि बैठक में सभी को आमंत्रित किया गया था और सभी को पहले से सूचना भी दी गई थी। हो सकता हो अखिलेश यादव और रामगोपाल व्यस्तता के चलते नहीं आए होंगे। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि सभी लोग पार्टी में एक रहें।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में अभी बिखराव की खबरें बेबुनियाद हैं। जब सेक्युलर मोर्चे के गठन को लेकर शिवपाल सिंह यादव से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आपको ज्यादा चिंता है, ये चिंता तो हमे होनी चाहिए।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *