देश की सुरक्षा-सम्मान के लिए मजबूत नीति की जरूरत: मायावती

लखनऊ । बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कहा कि सुरक्षा व सम्मान के मामले में देश को दीर्घकालीन मजबूत विश्वसनीय नीति बनाने की जरूरत है।

भारतीय पायलट विंग कमाण्डर अभिनन्दन वर्थमान की पाकिस्तानी कब्जे से सकुशल वतन वापसी पर देश के लोगों में संतोष व खुशी का उल्लेख करते हुये मायावती ने कहा कि भारत की सुरक्षा व सम्मान के मामले में देश को दीर्घकालीन मजबूत विश्वसनीय नीति बनाने की जरूरत है।

बसपा मुखिया मायावती ने रविवार को यहाँ पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों व अन्य जिम्मेदार लोगों की एक महत्त्वपूर्ण बैठक में बूथ स्तर तक में संगठन की गतिविधियों, चुनावी तैयारियों व सर्वसमाज में पार्टी के जनाधार को मजबूत बनाने के सम्बन्ध में अनवरत प्रयासों के साथ-साथ बसपाकृसपा गठबंधन की तैयारियों की समीक्षा की।

उन्होंने लोकसभा चुनाव की फूलप्रूफ तैयारियों के लिए नये विशेष दिशा-निर्देंश भी दिये। बसपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित इस विशेष बैठक में सबसे पहले पुलवामा आतंकी घटना में शहीद हुये सीआरपीएफ के 44 जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ-साथ इस प्रकार की घटनाओं में शहादत पाने वाले प्रदेशवासी जवानों के परिवार के लोगों को इस मुसीबत की घड़ी में हर सम्भव सहानुभूति रखने व उनके साथ हर प्रकार का सहयोग करने की अपील की गयी।

बसपा नेत्री मायावती ने पार्टी के लोगों का आह्वान किया कि वे लोग शहीदों के परिवारों का यथासंभव दुःख-दर्द बांटते रहने का प्रयास करें क्योंकि आमतौर पर यही देखा गया है कि सरकारें केवल रस्म अदायगी करती हैं और समय बीतने के साथ-साथ उन्हें उनके हाल पर बेसहारा ही छोड़ दिया जाता है।

उनसे किये गये वायदों को सरकार को यथाशीघ्र निभाना चाहिये। उन्होंनेे कहा कि देश को अपनी रक्षा, सुरक्षा व सम्मान के मामले में पूरी मुस्तैदी के साथ ठोस तैयारी करने की बडी जरुरत है ताकि कोई भी देश ना तो भारत की अनदेखी कर सके और ना ही कभी आँख दिखाने की हिम्मत ही कर सके।

उन्होंने कहा कि सत्ताधारी भाजपा को पुलवामा आतंकी हमले के बाद राजनीति नहीं करनी चाहिए थी। देश की 130 करोड़ चिन्तित जनता ने देखा कि भाजपा उस समय में भी अपनी संकीर्ण राजनीति करने से बाज नहीं आई और लोगों को यह महसूस भी हुआ कि देश की सुरक्षा व सम्मान मजबूत व सुरक्षित हाथों में नहीं है।

बसपा मुखिया मायावती ने सपा-बसपा के लोगों से अपील की कि वे छोटे-मोटे सभी आपसी गिले-शिकवे व मतभेद आदि को भुलाकर हर हाल में जबर्दस्त तौर पर इस गंठबंधन को कामयाब बनाने के लिये पूरी लगन से काम करें क्योंकि व्यापक जनहित व देशहित में तथा संविधान की रक्षा के लिये भी भाजपा की जनविरोधी व अहंकारी सरकार को केन्द्र की सत्ता से हटाना बहुत जरुरी है।

बसपा नेत्री ने कहा कि भाजपा की गरीब, मजदूर व किसान-विरोधी तथा धन्नासेठ-समर्थक नीतियों व गलत द्वेषपूर्ण कार्यकलापों से देश में सर्वसमाज के समस्त लोग व हर तबका काफी ज्यादा दुःखी व त्रस्त है और भाजपा की सरकार से राजस्थान, मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ की तरह ही मुक्ति चाहती है और उत्तर प्रदेश में भाजपा को परास्त करके जनता के इस लक्ष्य की पूर्ति भलीभाँति हो सकती है। उन्होंने कहा कि बसपाकृसपा गठबंधन ही उत्तर प्रदेश में भाजपा को हराने में सक्षम है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *