आन्तरिक लोकतंत्र सिर्फ B.J.P. में-अमित शाह

amit

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि देश में 1650 पंजीकृत राजनैतिक दल हैं लेकिन आन्तरिक लोकतंत्र सिर्फ उनकी ही पार्टी में है। उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि कांग्रेस में सोनिया गांधी के बाद राहुल गांधी ही उस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेंगे लेकिन भाजपा में मेरे बाद कौन राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेगा, इसकी कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जो राजनैतिक दल सिद्धान्तों पर नहीं चलते वह परिवारवाद और जातिवादी होते हैं।

भाजपा अध्यक्ष श्री शाह रविवार शाम यहां राजधानी लखनऊ में प्रबुद्धवर्ग समागम कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि वे भाजपा का परिचय देने और अन्य दलों से उसकी तुलना करने के लिए खड़े हुए हैं। हालांकि यह लोगों को लगेगा कि मैं तो भाजपा की ही प्रशंसा करूंगा लेकिन मेरे तर्कों से आप भी संतुष्ट होंगे।

उन्होंने कहा कि जिस राजनैतिक दल में आन्तरिक लोकतंत्र नहीं है वह इस विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत के लोकतंत्र को बचा नहीं सकता है। उन्होंने 1650 पंजीकृत राजनैतिक दलों में से गिनी चुनी पार्टियों में अभी आन्तरिक लोकतंत्र जिन्दा है। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा अपने भीतर आन्तरिक लोकतंत्र को बचाकर नहीं रखती तो क्या कोई चाय वाला इस देश का राष्ट्राध्यक्ष बन पाता।

उन्होंने कहा कि जिन पार्टियों में आन्तरिक लोकतंत्र नहीं होता वहां परिवारवाद और जातिवाद के अतिरिक्त और कुछ नहीं होता। उन्होंने कहा कि यदि सपा और बसपा की बात की जाये तो वहां बेटा नहीं तो भाई होता पार्टी का अध्यक्ष। लेकिन भाजपा में जिसके अन्दर प्रतिभा है, सांगठनिक क्षमता है वही पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राजनैतिक दलों के अपने सिद्धान्त होते हैं। लेकिन जो दल सिद्धान्तों पर नहीं चलते वह परिवारवाद और जातिवाद में फंसे होते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा बनने से पहले जनसंघ बना था। तब देष के प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू थे। वही कांग्रेस के मुखिया भी थे और सरकार के भी। सरकार की सारी नीतियां वही बनाते थे।

देश आजाद होने के बाद कांग्रेस की नीति हिन्दुस्तान के पुनर्निर्माण करने की थी जबकि जनसंघ चाहता था कि देष का नवनिर्माण हो, यही सिद्धान्त हैं। उन्होंने सवाल किया कि कांग्रेस के सिद्धान्त क्या हैं, उसकी तो स्थापना भी एक अंग्रेज ने की थी। उधर, प्रबुद्धवर्ग समागम कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री शाह और प्रधानमंत्री मोद की प्रशंसा करते हुए कहा कि भाजपा को अब अपराजेय बनाना है। वहीं कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा आदि ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन पार्टी विधायक एवं प्रदेश महामंत्री पकंज सिंह ने किया।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *