ईद-उल-अजहा – नमाज के दौरान होने लगी बारिश तो गुरूद्वारे ने दिखाया बड़ा दिल

उत्तराखंड। धर्म और मजहब के नाम पर हो रहे झगड़ों के बीच देवभूमि उत्तराखंड में ऐसी घटना हुयी जो हर धर्म समभाव के लिए मिसाल साबित हो गयी। असल में आदि गुरू शंकराचार्य की तपस्थली जोषी मठ में गुरूद्वारे में मुस्लिम भाइयों ने ईद-उल-अजहा(बकरीद) की नमाज पढ़ी। नमाज के दौरान बारिश और ठंड के चलते गुरूद्वारा प्रबंधन ने नमाज पढ़ने के लिए गुरूद्वारे के दरवाजे खोल दिए।

जानकारी के मुताबिक, चमोली जिले के जोशीमठ में रात भर से भारी वर्षा और ठंड हो रही है। ईद के मौके पर मुस्लिम समाज के लोग नमाज पढ़ना चाहते थे। लेकिन भारी बारिश से खुले मैदान में नमाज पढ़ना मुश्किल हो रहा था।
लगभग 600 लोग नमाज अता करने के लिए गांधी मैदान की तरफ आ रहे थे। बारिश और ठंड को देखते हुये जोशीमठ के गुरुद्वारे प्रबंधक ने मुस्लिम भाईयों से गुरुद्वारे में नमाज अता करने के लिए आमंत्रित किया। सभी मुस्लिम समाज के लोगों ने यहां गुरुद्वारे में नमाज पढ़ी। यहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ईद-उल-अजहा की नमाज पढ़ी।

इस दौरान देश की एकता और तरक्की की दुआ मांगी गई। नमाज के बाद अन्य धर्म के लोगों ने भी ईद की मुबारक दी और एक दूसरे के गले लगे।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *