1300 करोड़ का सृजन घोटाला — C.B.I.  ने किया 10 पर F.I.R.

पटना । बिहार में दो लोग बेहद मशहूर थे। एक तो लालू यादव और उनकी स्टाइल व दूसरा उनके द्वारा किया गया चारा घोटाला। लेकिन आज कल एक और मामला ऐसा है जिसने फिर से बिहार को चर्चा में ला दिया है। वह है सृजन घोटाला। हालांकि इस मामले की जांच कर रही C.B.I. ने बड़ी कार्रवाई की है। C.B.I.  ने भागलपुर में हुए सृजन घोटाले में कुल दस अलग—अलग एफआईआर दर्ज की है। इन प्राथमिकियों में भागलपुर जिला प्रशासन, बैंकों व सृजन एनजीओ के निदेशक मंडल के लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

दिल्ली से सेन्ट्रल ब्यूरो आॅफ इंवेस्टिगेशन के अधिकारियों की एक टीम के पटना आने की संभावना जतायी जा रही है। C.B.I. ने कार्रवाई करते हुए भागलपुर के सृजन महिला विकास समिति और सहरसा की बैंक आॅफ बड़ौदा के डायरेक्टर के विरूद्व भी प्राथमिकी दर्ज की हैं।

इसी के साथ C.B.I. ने भागलपुर के बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व डायरेक्टर, पूर्व कैशियर और सहायक भूमि अधिग्रहण कार्यालय के प्रमुख सहित आठ लोगों के खिलाफ भी एफआइआर दर्ज किया है। C.B.I. ने इस मामले में कई अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

14 वर्षों से चल रहा था यह गोरखधंधा

यह घोटाला वर्ष 2003 से अंजाम दिया जा रहा था। करीब 1300 करोड़ रूपयों की बंदरबांट की गयी। वर्तमान में इस घोटाले की जांच C.B.I. कर रही है। जानकारी के मुताबिक, जल्दी ही C.B.I.चिन्हित बैंक कर्मियों व अधिकारियों से पूछताछ करेगी। इसी के साथ ही कई बड़े नेताओं को भी C.B.I. ने चिन्हित किया है।

C.M. Nitish ने कहा- जिन्हें जांच पर शक हो वो कोर्ट जा सकते हैं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सृजन घोटाले की जांच C.B.I. को सौंप दी गई है। यदि किसी को सीबीआई पर शक है तो वह उच्च न्यायालय, सर्वोच्च न्यायालय की शरण में जा सकता है। कोर्ट यदि जांच कार्य की मॉनिटरिंग करे तो हमें कोई एतराज नहीं है।

विधान परिषद में भोजनावकाश के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि इस फर्जीवाड़े, जालसाजी में जो भी शामिल होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। जांच पूरी गहराई से होगी। यदि किसी के पास कोई दस्तावेज है, तो उसे सीबीआई को दीजिए। अब खजाना लूटना संभव नहीं होगा। कोई घटना भविष्य में नहीं हो ऐसा प्रयास सरकार कर रही है।

एक-एक जिले से रिपोर्ट मांगी जा रही है। वित्त विभाग ने काम शुरू कर दिया है। सभी विभागों को अपने सभी एकाउंट को सही सलामत देखने को कहा गया है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *