सैफई Sports College  अब मेजर ध्यानचंद के नाम पर

लखनऊ । समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पैतृक गांव सैफई में बने सैफई स्पोर्ट्स स्टेडियम अब हाकी के जादूगर रहे मेजर ध्यानचन्द के नाम से जाना जायेगा। मेजर ध्यानचन्द की जयन्ती और खेल दिवस के अवसर पर मंगलवार को यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर आयोजित एक समारोह में यह घोषणा की। इसके अलावा राज्य में खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए मुख्यमंत्री ने ओलपिंक खेलों में पदक पाने वाले प्रदेश के खिलाडियों को केन्द्र सरकार के बराबर पुरस्कार राशि देने की भी घोषणा की।

श्री योगी ने सर्वोच्च खेल सम्मान समारोह में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूनम यादव और दीप्ति शर्मा को आठ-आठ लाख रूपये, आईएएस अधिकारी सुहास एलवाई को दस लाख रूपये, हैंडबाल के लिये इंदू गुप्ता, सृष्टि अग्रवाल, मंजुला पाठक तथा सचिव भारद्वाज (हैंडबाल) को एक-एक लाख रूपये तथा मेरठ के उचित शर्मा को वुशू (मार्सल आर्ट) के लिये तीन लाख रूपये का पुरस्कार दिया।

इस अवसर पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित होने वाली खिलाडियों में सुश्री मंजुला पाठक (हैण्डबाल), सुश्री सुशीला पवार (भरात्तोलन), सुश्री श्रेया कुमार (सॉफ्ट टेनिस), सुश्री श्रेया सिंह (ताइक्वाण्डो), सुश्री प्रीति गुप्ता, (खो खो), सुश्री गार्गी यादव (कुश्ती), श्रीमती रंजना (वेटरन वर्ग) तथा सुश्री अंशू दलाल(जूडो) शामिल हैं।

लक्ष्मण पुरस्कार पाने वालों में राहुल चैधरी (कबड्डी), शनीष मणि मिश्रा (सॉफ्ट टेनिस), सिद्धार्थ वर्मा (जम्नास्टिक), दानिश मुज्तबा (हाकी), मोहम्मद असब (शूटिंग) तथा रजनीश कुमार मिश्रा (वेटरन वर्ग) में शामिल हैं।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *