Flood affected  क्षेत्रों व पीड़ितों को लेकर C.S. ने दिए कड़े निर्देश

लखनऊ । मुख्य सचिव राजीव कुमार ने प्रदेश में बाढ़ से प्रभावित लोगों को प्रदेश सरकार द्वारा राजस्व वसूली स्थगित किये जाने के निर्णय से पारदर्शिता के साथ लाभान्वित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित लोगों को खाद्यान्न बैग उपलब्ध कराने में कोई कोर-कसर न छोड़ी जाये। उन्होंने कहा कि अभी तक 80 करोड़ रूपये का खाद्यान्न बैग वितरित हो जाने के उपरान्त भी निरन्तर प्रभावित लोगों को खाद्यान्न बैग पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराये जाये ताकि कोई भी प्रभावित व्यक्ति भूखा न रहने पाये।

उन्होंने पशुओं को भी पर्याप्त चारा एवं पशु टीकाकरण तथा आवश्यकतानुसार दवायें उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाढ़ के समय एवं उसके पश्चात् फैलने वाली बीमारियों से बचाव के लिये राहत शिविरों के साथ-साथ सीएचसी पीएचसी में आवश्यक प्रचुर मात्रा में दवायें उपलब्ध करानी चाहिए।

मुख्य सचिव सोमवार को यहां बाढ़ से प्रभावित लोगों को दी जा रही मदद की प्रगति की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित जनपदों में पशु टीकाकरण एवं पशु चारे का वितरण पारदर्शिता के साथ कराने के लिए फोटोग्राफी भी कराई जाये।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा में सुनिश्चित किया जाये कि प्रत्येक पशु को प्रतिदिन के लिये पांच किलोग्राम से कम चारा कतई न उपलब्ध हो। श्री कुमार ने बाढ़ से प्रभावित तटबन्धों को बार-बार कटने पर तत्काल आवश्यक मरम्मत कराने के निर्देश देते हुये कहा कि इन तटबन्धों पर कराये गये कार्यों की गुणवत्ता की थर्ड पार्टी जांच भी कराई जाये।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में किस तटबन्ध पर कौन जिम्मेदार अधिकारी तैनात है का विस्तृत विवरण उपलब्ध कराया जाये। उन्होंने अभी तक कटान से बचे किन्तु संवेदनशील तटबन्धों पर कितनी सुरक्षात्मक सामग्री उपलब्ध कराई गयी है तथा ऐसे तटबन्धों के बचाव के लिये क्या-क्या कदम उठाये जा रहे हैं का विस्तृत विवरण भी उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *