Ex. Minister रविदास मेहरोत्रा की गाड़ी से मिली 30 लाख रुपए की पुरानी करेंसी

लखनऊ । गत वर्ष आठ नवम्बर को चलन से बाहर की गयी भारतीय मुद्रा यानि एक हजार और 500 रूपए के पुराने नोटों को बंद हुए दस महीने से ज्यादा समय हो चुका है लेकिन अभी भी कुछ लोग इन पुराने नोटों को ठिकाने लगाने के प्रयास में हैं। इस बार सूबे की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रहे रविदास मेहरोत्रा की गाड़ी से 30 लाख रुपए की पुरानी करेंसी मिली है।

राजधानी के गोमतीनगर थाना में गाड़ी के साथ पकड़ा गया व्यक्ति खुद को पूर्व मंत्री की गाड़ी का चालक बता रहा है। उसके पास से एक रिवाल्वर भी मिली है। पुलिस ने केन्द्र द्वारा पुरानी मुद्रा की बरामदगी पर नया कानून बनाया है। इन्हीं धाराओं के तहत यह मामला दर्ज हुआ है।

जानकारी के मुताबिक लखनऊ में गोमतीनगर क्षेत्र से एक एसयूवी से 30 लाख की पुरानी करेंसी के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह गाड़ी पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा की है।

गाड़ी को गोमतीनगर थाना क्षेत्र से कब्जे में लिया गया है। पुलिस ने गाड़ी और अपराधियों को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। बताया जाता है कि बीती रात पुलिस गोमती नगर विस्तार में वाहन चेकिंग कर रही थी। इस दौरान पुलिस टीम ने दयाल चौराहे पर एक एक्सयूवी कार को रुकने का इशारा किया। तो वाहन चालक पुलिस देखकर गाड़ी भागने लगा। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर उन्नाव निवासी दीपक और ठाकुरगंज निवासी मुबीन के साथ एक अन्य व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ा तो उनके कब्जे से पुरानी मुद्रा बरामद हुई।

पूछताछ में वाहन स्वामी पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा होने की बात सामने आयी। विदित हो कि रविदास मेहरोत्रा सूबे की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार के अंतिम विस्तार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए थे। वह गिनती पुराने समाजवादी नेताओं में होती रही है। वे लखनऊ की मध्य सीट से विधायक भी रह चुके हैं।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *