डॉ कफील निकला OXYGEN  चोर, S.T.F. ने किया Arrest

लखनऊ। विगत दिनों गोरखपुर के बीआडी मेडिकल कॉलेज में आॅक्सीजन की कमी के चलते हुयी बच्चों की मौत के पीछे कई गहरे राज भी छुपे हैं। हरकत में आयी पुलिस अब ऐसे ही खुलासे करने में जुट गयी है। फिलहाल मेडिकल कॉलेज में तैनात डॉ. कफील को यूपी एसटीएफ ने आॅक्सीजन सिलेण्डर चोरी करने के आरोप में गिरफ्त में ले लिया है। एसटीएफ उन्हें गोरखपुर पुलिस के सिपुर्द करेगी ।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज मामले में अब तक कुल 9 लोग आरोपी बनाए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक डॉ. कफील खान को लखनऊ से पकड़ा गया है। कफील को यूपीएसटीएफ ने एक सूचना के आधार पर धर दबोचा। वो पिछले पंद्रह दिनों से फरार चल रहे थे। कफील अहमद बीआरडी अस्पताल मे उसी वॉर्ड के सुपरिंनटेडेट थे, जिसमे बच्चों की लागातार मौत हो रही थी।

गोरखपुर घटना के बाद मेडिकल कॉलेज के डॉ. कफील खान का नाम सामने आया था, जिसमें कहा गया कि उन्होंने मुश्किल समय में ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवाए और मदद की। लेकिन बाद में कफील से जुड़ी कई नई बातें सामने आईं, जो कि बिल्कुल अलग कहानी दर्शाती हैं। मेडिकल कॉलेज से जुड़े कई लोगों ने उन मीडिया रिपोर्ट्स पर हैरानी जताई है, जिनमें कफील को किसी फरिश्ते की तरह दिखाया गया है।

हर खरीद में तय होता था कमीशन 

बीआरडी मेडिकल कॉलेज के कई कर्मचारियों और डॉक्टरों ने इस बात की पुष्टि की है कि डॉक्टर कफील वहां होने वाली हर खरीद में कमीशन लेता था और उसका एक तय हिस्सा प्रिंसिपल राजीव मिश्रा तक पहुंचाता था। ऑक्सीजन कंपनी पुष्पा सेल्स के साथ चल रहे विवाद में भी राजीव मिश्रा के साथ कफील का बड़ा हाथ था। हमने जितने लोगों से भी बात की उनमें से ज्यादातर का यही कहना था कि डॉक्टर राजीव मिश्रा, उनकी पत्नी पूर्णिमा शुक्ला और डॉ. कफील अहमद सारे हादसे के असली दोषी हैं।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *