Gorakpur में थम नहीं रहा है बच्चों की मौत का सिलसिला

गोरखपुर । बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में जैपनीज इन्सेफेलाइटिस यानि जापानी बुखार से बच्चों की मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन बच्चों की मौतों को लेकर राजनीति भी जारी है। बीते 24 घण्टे में तीन और बच्चों की मौत होने की सूचना है। यह सभी बच्चे इन्सेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती में भर्ती थे। हालांकि अब मेडिकल कालेज प्रषासन आंकड़ों को छिपाने में अधिक दिलचस्पी दिखा रहा है।

अपर निदेशक (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण) के कार्यालय ने जेई वार्ड में एक बच्चे की मौत की पुष्टि की है। इस वार्ड में भर्ती के लिए 15 ताजा मामले सामने आये हैं। इन्सेफेलाइटिस से 12 अगस्त से लेकर 16 अगस्त तक 11 बच्चों की मौतें हो चुकी हैं।

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह पूर्व में कह चुके हैं कि मेडिकल कालेज के पीडियाट्रिक विभाग से मिली रिपोर्ट के मुताबिक सात अगस्त से 11 अगस्त के बीच 60 बच्चों की मौत विभिन्न बीमारियों से हुई है। वह यह भी स्पष्ट कर चुके हैं कि ये मौतें आक्सीजन की कमी से नहीं हुई।

इस बीच माकपा पोलित ब्यूरो सदस्य सुभाषिनी अली के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल गत दिवस यहां पहुंचा। सुभाषिनी अली ने अपने एक बयान में कहा कि माकपा नेताओं ने पांच वर्षीय खुशी के माता पिता से मुलाकात की, जिसकी 11 अगस्त को मृत्यु हो गयी थी। वे एक अन्य परिवार से भी मिले, जिसने तीन दिन के नवजात शिशु को 11 अगस्त को खो दिया था।

बयान के मुताबिक प्रतिनिधिमंडल ने मांग की है कि लापरवाही के कारण जिन बच्चों की मौत हुई है, उनके परिवार वालों को मुआवजा दिया जाए, स्वास्थ्य बजट बढाया जाए और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की स्थिति सुधारी जाए। उन्होंने पूरे प्रकरण की न्यायिक जांच की मांग की और कहा कि दोषी अधिकारियों को उचित दंड दिया जाए।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *