पाठा के जंगल हुई मुठभेड़ , 1 दारोगा शहीद, 1 घायल , सरगना बबली लापता

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले में बबली कोल दस्यु गिरोह के साथ मुठभेड़ में गुरूवार को एक पुलिस उपनिरीक्षक जे.पी. सिंह   शहीद हो गए।वहीं उपनिरीक्षक वीरेन्द्र त्रिपाठी को भी गोली लगी। 1991 बैच के उपनिरीक्षक त्रिपाठी को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उनकी हालत नाजुक बतायी जा रही है।

 प्रदेष के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद हुए सब इंस्पेक्टर की वीरता को नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्माओं की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि दुःख की इस घड़ी में राज्य सरकार शहीद के परिवारों के साथ खड़ी है।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) आनंद कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि चित्रकूट जिले के मानिकपुर क्षेत्र में नीही चिरैया के जंगलों में पुलिस और डकैत बबली कोल के गिरोह के बीच आज तड़के करीब तीन बजे हुई मुठभेड़ में दारोगा जयप्रकाश सिंह शहीद हो गए।

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ अभी जारी है। इसमें कुछ डकैत भी हताहत हुए हैं। हालांकि उनकी संख्या के बारे में फौरन बता पाना मुश्किल है। मुठभेड़ में शहीद हुए उपनिरीक्षक जयप्रकाश सिंह उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के रहने वाले थे। दस्यु बबली कोल पर पांच लाख रूपए का पुरस्कार घोषित है।

श्री कुमार ने बताया कि मुठभेड़ में गैंग का एक सक्रिय सदस्य राजू कोल घायल हुआ जिसका पुलिस की मौजूदगी में इलाज चल रहा है। दो अन्य बदमाश गिरफ्तार किये गये हैं।

एक-दो डकैतों के और भी घायल होने की सूचना है। मुठभेड़ का नेतृत्व पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र, अपर पुलिस अधीक्षक बलवन्त चैधरी कर रहे हैं। मौके पर बांदा, महोबा, हमीरपुर जिले से अतिरिक्त फोर्स मुठभेड़ में भेजी गयी है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *