Akhilesh  का B.J.P.  के खिलाफ बिगुल आज से

Akhilesh Yadavलखनऊ । समाजवादी पार्टी के मुखिया एवं उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव राज्य और केन्द्र सरकार के खिलाफ “देश बचाओ-देश बनाओ” आंदोलन की शुरूआत कल भगवान श्रीराम की नगरी फैजाबाद-अयोध्या से करेंगे। अपने इस अभियान के तहत सपा केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार नीतियों के खिलाफ आंदोलन शुरू करेंगी। इसके लिये सपा ने पूरी तैयारी कर ली है कि कौन नेता किस जिले से इस अभियान के शुरूआत करेगा। सपा मुखिया ने इसके लिये अयोध्या को चुना है।

समाजवादी पार्टी के मुख्य मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने मंगलवार को यहां बताया कि नौ अगस्त को अगस्त क्रांति दिवस पर पार्टी ‘देश बचाओं देश बनाओं‘ दिवस मनाएगी। राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के सभी जनपदों में जनसभाओं का आयोजन कर भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों एवं सांप्रदायिक राजनीति का पर्दाफाश किया जाएगा।

‘देश बचाओ-देश बनाओं’ अभियान की होगी शुरूआत

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव फैजाबाद में आयोजित एक मुख्य कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। श्री यादव दोपहर करीब 12 बजे राजबली स्मारक पब्लिक इंटर कालेज, मड़ना, पूरा बाजार, जिला फैजाबाद में स्वतंत्रता सेनानी एवं पूर्व विधायक राजबली यादव की पुण्यतिथि पर आयोजित सम्मेलन एवं प्रतिमा अनावरण के कार्यक्रम में भाग लेंगे। इसके अलावा वे एक जनसभा को भी सम्बोधित करेंगे।

विदित हो कि सपा मुखिया श्री यादव ने अगले महीने के अन्तिम सप्ताह में पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया है जिसमें उन्हे दुबारा राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया तय माना जा रहा है। पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में श्री यादव को पांच साल के लिये चुन सकती है। ‘देश बचाओ-देश बनाओ’ आंदोलन के जरिये पार्टी राज्य में बढ रहे अपराध, बेरोजगारी, महंगायी, और भ्रष्टाचार को भाजपा के खिलाफ मुद्दा बनायेगी।

विधानसभा चुनाव में पार्टी 47 सीटों पर सिमटने के बाद मुश्किल दौर से गुजर रही है। पार्टी को एक और झटका तब लगा जब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के दौरे के दिन से अब तक पार्टी के तीन विधानसभा परिषद भाजपा में शामिल हो गये है। अखिलेश यादव को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में औपचारिक रूप से चुना जाना है। श्री यादव राष्ट्रीय सम्मेलन जरिये पार्टी को संगठित करने की पुरजोर कोशिश करेंगे।

पार्टी से ज्यादातर शिवपाल विश्वास पात्रों को अलग थलग कर दिया गया है। कुछ नेताओं की विश्वनीयता पार्टी के वरिष्ठ लोगों छोड़ दी गयी है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *