BRICKS  बनेगा भारतीय कूटनीति का अड्डा, मोदी भाग लेने के लिए गए China

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चीन के नेतृत्व में होने वाली दो दिनी ब्रिक्स बैठक में भाग लेने के लिए चीन रवाना हो गए है। विगत दिनों चीन के साथ हुए विवाद के मद्देनजर भारतीय कूटनीति का मानना है कि ब्रिक्स बैठक में काफी गहमा—गहमी हो सकती है। मोदी आगामी दो दिनों में नौ देशों के प्रमुखों से द्विपक्षीय मुलाकात भी करेंगे।

शनिवार को पीएम ने अपने फेसबुक वाल पर ब्रिक्स के साथ ही म्यांमार यात्रा के बारे में जानकारी दी है। मोदी ने इस बात के संकेत दिए हैं कि उनकी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से भी मुलाकात होगी। विदेश मंत्रालय ने एक दिन पहले ही अपनी ब्रीफिंग में इस बारे में साफ तौर पर नहीं बताया था।

मोदी ने कहा है कि वह ब्रिक्स सम्मेलन में नौ देशों के प्रमुखों से मिलने की प्रतीक्षा कर रहा हूं। वैसे वे किन देशों के प्रमुखों से मिलेंगे, इसका विवरण नहीं दिया है लेकिन माना जा रहा है कि इसमें चीन, रूस, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका के प्रमुखों के अलावा चीन की तरफ से आमंत्रित कुछ मेहमान देशों के प्रमुख भी शामिल होंगे। मेहमान देशों थाईलैंड, मिस्त्र, मैक्सिको और ताजिकिस्तान भी शामिल हैं। मोदी ने कहा है कि वह पिछले वर्ष गोवा में हुए ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में लिए गए फैसलों और बनी समितियों को सकारात्मक तौर पर आगे ले जाया जाएगा।

उनकी यात्रा से भारत व म्यांमार के द्विपक्षीय रिश्तों का नया रोडमैप बनने की बात कही जा रही है। मोदी पहली बार आधिकारिक द्विपक्षीय यात्रा पर म्यांमार जा रहे हैं। मोदी वहां भारतीय मूल के लोगों से भी मुलाकात करेंगे।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *