Lucknow Metro को चलाने के लिए अब भगवान का सहारा…

लखनऊ। अब भगवान ही लखनऊ मेट्रो का रखवाला है। क्योंकि इसमें राजनीति हावी हो चुकी है। और शायद यही वजह रही कि मेट्रो ने नेता लोगों को भी सबक सिखा ही दिया है। वह भी नाराज थी। ऐसा इसलिए कि मेट्रो मैन माने जाने वाले ई.श्रीधरन को कल उद्घाटन के समय किनारे कर दिया गया। और सारे भगवाधारी अपनी फोटों खिंचाने के लिए एक दूसरे पर सवार हो रहे थे। 

IMG-20170906-WA0003

मौका ही ऐसा था। एक मंच पर ही प्रदेश के गर्वनर साहब, देश का गृहमंत्री और महाराज जी थे। तो ऐसा होना लाजमी था।

लेकिन जिन्होने लखनऊ को मेट्रो सिटी बनाने का सपना साकार किया वह बेचारे किनारे एक कोने में खड़े थे। उनके चेहरे पर उन्हें किनारे किए जाने की उदासी भी साफ झलक रही थी।

इस सबके बीच एक चर्चा यह भी रही बबुआ रूठे हुए हैं। उन्होंने ही मेट्रो की आधारशिला रखी। और मजा भाजपाई लूट रहे हैं। राजनीति में यह सब नहीं देखा जाता ।

लेेकिन भगवान भी तो है। भगवान जी ने भाजपा वालों समेत लखनऊ वासियों को भी इशारों ही इशारों मे बता दिया कि वह नाराज हैं। उम्मीद है कि अब भगवाधारी ढंग से पूजा—पाठ करके भगवान को मनाने की जुगत तो करेंगे ही।

जैसे बरसात न होने पर तमाम पंडित यज्ञ करते हैं वैसे ही मेट्रो पर लग गए ब्रेक ने इस विधा को आगे बढ़ाने का काम किया है।

अचानक दब गए इमरजेंसी बटन से मेट्रो रूक गयी। अन्दर सफर का मजा ले रहे यात्री बेहाल हो गए। और कईयों की तो फ्लाइट भी छूट गयी।

यह सब भगवान का ही किया—धरा है। कुछ तो यह भी कह रहे बबुआ की नजर लगी है। और कुछ इसे इंजीनियर साहब की नाफरमानी का नतीजा मान रहे हैं।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *