2 RTI  एक्टिविस्टों के बीच वर्चस्व की जंग, Court ने थाने से तलब की आख्या

लखनऊ । राजधानी लखनऊ की आरटीआई कार्यकत्री उर्वशी शर्मा द्वारा ने शनिवार को अपने अधिवक्ता त्रिभुवन कुमार गुप्ता के मार्फत यूपी कैडर के आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर के खिलाफ लखनऊ की अदालत में सीआरपीसी की धारा 156(3) के तहत एक मुकदमा दर्ज कराया है।

अधिवक्ता त्रिभुवन कुमार गुप्ता ने बताया कि लखनऊ के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम) सीबीआई और प्रभारी सीजेएम इंद्र प्रकाश ने उर्वशी के मुकदमे को स्वीकार कर मामले में लखनऊ के गोमतीनगर थाने से आख्या तलब करते हुए मामले में अगली सुनवाई आने वाले पांच सितंबर को करने का आदेश पारित किया है।

त्रिभुवन कुमार ने बताया कि उर्वशी ने अपनी अर्जी में अमिताभ और नूतन ठाकुर पर नूतन ठाकुर के लिए उच्च पद पाने के लिए उर्वशी पर दबाब बनाकर उर्वशी के एनजीओ येश्वर्याज के पैड पर सूचना आयुक्त, एचटी वीमेन अवार्ड आदि के लिए संस्तुति पत्र जबरदस्ती लिखाने और संस्तुति न करने पर उर्वशी के पति की व्यक्तिगत सूचनाएं मांगकर ब्लैकमेल करने, उर्वशी की समाजसेवा से प्रभावित भ्रष्ट व्यक्तियों के साथ मिलकर षड्यंत्र करने, उर्वशी और उनके परिवार की सोशल मीडिया पर मानहानि करने, नूतन द्वारा अपने आईपीएस पति के पद की धौंस जमाकर अपनी पोजीशन का दुरुपयोग कर झूंठे मुकद्दमे लिखाने, उर्वशी के एनजीओ येश्वर्याज का पंजीकरण निरस्त कराने का षड्यंत्र करने और स्थानीय थाने पर IPS पद का दुरुपयोग करते हुए अमिताभ और नूतन द्वारा कानून को अपना बंधक बना लेने के गंभीर आरोप लगाते हुए नूतन ठाकुर और अमिताभ ठाकुर द्वारा उर्वशी को लिखी गई ई-मेल्स,नूतन द्वारा उर्वशी के पति की व्यक्तिगत सूचना मांगने के पत्र, गोमतीनगर थाने और लखनऊ एसएसपी को उर्वशी द्वारा लिखे गए पत्रों, अन्य व्यक्तियों द्वारा उर्वशी को उपलब्ध कराए गए नूतन और अमिताभ के काले कारनामों के प्रमाणों और न्यायालय विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट लखनऊ के बीते 31 मई के आदेश को अमिताभ और नूतन के अपराधों के सबूतों के तौर पर अदालत के सामने पेश किया है और विवेचना के दौरान और सबूत देने की बात कहते हुए ठाकुर दंपत्ति के खिलाफ एफआईआर लिखाकर अभियुक्तों के खिलाफ विधिसम्मत कानूनी कार्यवाही कराने की मांग की है।

Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *