गोरखपुर में गैलेण्ट इस्पात परियोजना में 510 करोड़ रुपये का निवेश होगा-योगी

लखनऊ
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में गैलेण्ट इस्पात लिमिटेड के स्टील प्लान्ट के विस्तारीकरण परियोजना का शिलान्यास किया। इस परियोजना में 510 करोड़ रुपये का निवेश होगा तथा इससे 2500 व्यक्तियों को रोजगार प्राप्त होगा। शिलान्यास समारोह के दौरान मुख्यमंत्री  ने स्टील प्लाण्ट का भ्रमण कर वहां के कार्यों का अवलोकन भी किया।
शिलान्यास समारोह में अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने फैक्ट्री प्रबंधन को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश का औद्योगिक विकास वर्तमान राज्य सरकार की प्राथमिकता है। विकास एवं सुशासन का कोई विकल्प नहीं होता है। इसलिए प्रदेश सरकार लगातार इस दिशा में कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार अवस्थापना सुविधाओं का समुचित विकास करने के साथ ही, प्रदेश में औद्योगिक विकास को प्रोत्साहित करने हेतु सुरक्षा का वातावरण बनाने के लिए सतत प्रयत्नशील है। साथ ही, राज्य में औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए बेहतर वातावरण बनाने की दिशा में भी निरन्तर प्रयास हो रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में निवेश का माहौल तैयार करने से प्रदेश में बड़ी मात्रा में निवेश आ रहा है। इन्वेस्टर्स समिट-2018 में हुए एम0ओ0यू0 के माध्यम से राज्य में बड़ी संख्या में उद्योग स्थापित हो रहे हैं।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि राज्य सरकार पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का निर्माण करा रही है। इस एक्सप्रेस-वे से गोरखपुर को जोड़ने वाले लिंक-वे के दोनों ओर औद्योगिक गलियारा बनाया जायेगा। इससे इस क्षेत्र में औद्योगिक निवेश होगा और नौजवानों को रोजगार मिलेगा। उन्होेंने कहा कि गोरखपुर के दक्षिणान्चल में 1200 करोड़ रुपये की लागत से बाॅयोफ्यूल प्लान्ट लगाया जायेगा। इससे किसानों को अपने फसल अवशेष जलाने नहीं पड़ेंगे बल्कि उनकी आय दोगुनी होगी।
मुख्यमंत्री  ने कहा वर्ष 2020 तक गोरखपुर फर्टिलाइजर कारखाना संचालित हो जायेगा। इससे इस क्षेत्र के किसानों को उर्वरक और रोजगार दोनों मिलेगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में गोरखपुर एम्स की ओ0पी0डी0 आरम्भ हो जायेगी। वर्ष 2022 तक एम्स पूर्ण रूप से तैयार हो जायेगा। इससे पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों को और बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलंेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने उद्योग बंधु और व्यापार बंधु की बैठकों को नियमित रूप से आयोजित कराने के निर्देश भी दिये।
Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *