अखिलेश ने लिखा जनता के नाम खुला पत्र, की संवैधानिक मूल्यों की रक्षा की अपील

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के मुखिया एवं उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पश्चिम बंगाल में जारी घटनाक्रम को देश के हर नागरिक के लिये चिंता का सबब करार देते हुए जनता के नाम खुला खत लिखा और उससे संवैधानिक मूल्यों की रक्षा की अपील की।

अपने पत्र में उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल पर हो रहे हमले ना केवल संवैधानिक मूल्यों और सिद्धांतों पर आक्रमण हैं, बल्कि हमारे पुरखों के सपनों पर भी आघात है। भाजपा संवैधानिक मूल्यों को अपने मन मुताबिक पढ़ना चाहती है, क्योंकि इन मूल्यों की स्थापना और उनके पोषण में उसका कोई योगदान नहीं है।

उन्होंने किसी का नाम लिये बगैर कहा कि ढाई व्यक्तियों और उनकी चापलूसी में जुटे मीडिया ने हमारे देश को विध्वंस की कगार पर ला खड़ा किया है। हमारी सम्प्रभुता और प्राकृतिक संसाधनों को उन कुछ मशहूर उद्योगपतियों के हाथ बेच दिया गया है जो भाजपा को वित्तीय मदद पहुंचाते हैं। बदले में भाजपा उनकी सुविधा के हिसाब से नीतियां बनाती है।

सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि आज देश का अल्पसंख्यक तबका भाजपा की आईटी सेल यानी ‘इंटरनेट टेररिस्ट सेल’ द्वारा फैलायी जाने वाली अफवाहों से भड़की भीड़ के हाथों पीट-पीटकर मार डाले जाने के खौफ में जी रहा है।

उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों के दौरान पश्चिम बंगाल में जो कुछ हुआ उससे स्पष्ट है कि लोकतांत्रिक गणराज्य को सुनियोजित तरीके से खोखला करके उसे बर्बाद किया जा रहा है। इसके लिये बहुत आसान तरीका अपनाया जा रहा है। वह यह है कि असहमति रखने वाले सत्ताधारी राजनेताओं को कानूनी लड़ाई में उलझाया जा रहा है, उनसे राष्ट्रविरोधी और देशद्रोही जैसा बर्ताव हो रहा है। उनके राज्यों को साम्प्रदायिकतावादी और पंथवादी तरीकों से जलाया जा रहा है।

अखिलेश ने कहा कि देश को मजबूत लोगों की जरूरत है। हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मजबूत शख्स नहीं हैं।

सपा प्रमुख ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का जिक्र करते हुए कहा कि वह ऐसी महिला हैं जिन्होंने कम्युनिस्ट पार्टी को उन्हीं के गढ़ में परास्त किया। ममता ने किसानों के हितों की कीमत पर औद्योगिक हितों को तरजीह नहीं दी।

उन्होंने न्यायपालिका, सीबीआई, आईएएस तथा आईपीएस अफसरों एवं राष्ट्रीय संस्थाओं का आह्वान किया कि वे केन्द्र के सत्ताशीर्ष की ओर से हो रहे हमलों के खिलाफ खड़े हैं और अपनी सम्प्रभुता के लिये लड़ें। सपा अध्यक्ष ने पत्र के अंत में कहा  आप उन्हीं को वोट दें, जो आपका सर्वश्रेष्ठ तरीके से प्रतिनिधित्व कर सकें। ऐसे लोगों को अपना रहनुमा ना बनाएं जो देश के आधार को ही हिला डालें।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *