एससी-एसटी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष की भतीजी को परिवार समेत जिंदा जलाने की कोशिश

आगरा। केन्द्रीय अनुसूचित जाति जनजाति (एससी-एसटी) आयोग अध्यक्ष एवं सांसद रामशंकर कठेरिया की भतीजी को परिवार सहित मंगलवार देर रात जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। अज्ञात बदमाषों ने आवास विकास कालोनी के सेक्टर-11 स्थित उनके आवास में आग लगा दी गई। जिसके बाद परिवार घर में लपटों से घिर गया। पड़ोसियों ने जैसे-तैसे सभी को बाहर निकाला। भतीजी और उसकी बच्ची गंभीर घायल हैं। सीटी टीवी फुटेज की मदद से पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार भी किया है।
जानकारी के अनुसार एससी आयोग अध्यक्ष रामशंकर कठेरिया ने अपनी भतीजी उमा की शादी लगभग ढाई साल पहले आवास विकास कालोनी, सेक्टर-11 निवासी सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी बैजनाथ के बेटे से की थी। यह शादी इसलिए वीवीआईपी थी कि उनकी भतीजी को आशीर्वाद देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी आए थे। बताया जाता है कि मंगलवार देर रात तकरीबन 1.30 बजे उनकी भतीजी उमा, सास-ससुर, पति और आठ माह का बच्चा घर में सोये हुए थे, तभी घर में कुछ लपटें उठती दिखी। परिवार के लोग जागे तो पूरा घर लपटों से घिर चुका था। घर में चीखपुकार मच गई। पड़ोसियों ने छत के रास्ते दरवाजे तोड़कर परिवार को बाहर निकाला। इसमें भतीजी उमा और उसका बच्चा बुरी तरह घायल हैं। सभी को रात में ही निजी अस्पताल भर्ती कराया गया है। वहीं घर का सारा सामान पूरी तरह खाक हो गया।
उधर, सूचना पर एसएसपी अमित पाठक सहित भारी फोर्स मौके पर पहुंच गया। वहीं एससी आयोग अध्यक्ष् रामशंकर कठेरिया सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेता भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने पड़ोस में लगे सीसी टीवी फुटेज खंगाले। उसमें एक युवक आग लगाकर भागता दिखा। पुलिस ने उसी आधार पर एक युवक गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी युवक और परिजनों से बातचीत का प्रयास कर रही है। घटना के पीछे लेनदेन का विवाद भी सामने आ रहा है। चर्चा है कि उमा के परिवार का किसी से लेन-देन था। उधारी की रकम न मिलने पर दूसरे पक्ष ने रंजिश मान ली थी, जिसके बाद यह घटना हुई।
Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *