राजभवन के सामने हत्या और लूट मामले का खुलासा, मुख्य अभियुक्त समेत दो गिरफ्तार

लखनऊ। राजधानी के वीवीआईपी इलाके राजभवन के सामने बीते सोमवार को दिनदहाड़े एक निजी बैंक की कैशवैन के गार्ड की हत्या करके लाखों रुपये की लूट के सनसनीखेज मामले का खुलासा करते हुए मुख्य अभियुक्त समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। लखनऊ के पुलिस महानिरीक्षक सुजीत कुमार पाण्डेय ने रविवार को यहां बताया कि गत 30 जुलाई को राजभवन के सामने एक्सिस बैंक की कैशवैन के गार्ड की हत्या करके करीब साढ़े छह लाख रुपये लूटने वाले विनीत तिवारी नामक अभियुक्त को शनिवार देर रात रायबरेली के लालगंज कोतवाली क्षेत्र स्थित भोलाखेड़ा गांव में उसकी बहन के घर से गिरफ्तार कर लिया गया।
उन्होंने बताया कि लखनऊ तथा रायबरेली पुलिस की इस संयुक्त कार्यवाही में तिवारी के पूरे भोलेपुरवा गांव स्थित घर से लूटी गयी रकम के चार लाख 73 हजार 900 रुपये बरामद हुए हैं। उसकी निशानदेही पर एक खेत में उसकी गाड़ी की नम्बर प्लेट, लूटा गया बैग, एक तमंचा और खोखा कारतूस बरामद हुआ है। पाण्डेय ने बताया कि तिवारी ने जिस तरह से घटना को अंजाम दिया वह हैरान करने वाला था। उसने घटना को अकेले ही अंजाम दिया। उसका बैंक की कैशवैन लूटने का पहले से कोई इरादा नहीं था। वह किसी और व्यक्ति को लूटने के मकसद से मौके पर खड़ा था। इसी बीच बारिश होने लगी तो बैंक की कैशवैन के चालक ने उससे कहा कि वह उसे गाड़ी में बैठा लेता, मगर उसमें काफी नकदी रखी है।
उन्होंने बताया कि जब तिवारी को गाड़ी में भारी मात्रा में नकदी रखी होने की जानकारी मिली तो उसने फौरन अपनी योजना बदलते हुए वैन के गार्ड, कस्टोडियन तथा चालक पर गोली चला दी और नकदी भरा बैग लेकर भाग गया। उसके बाद करीब 40 मिनट तक लखनऊ के अलग-अलग इलाकों में घूमते हुए वह अपने ठिकाने पर पहुंचा। बाद में वह रायबरेली स्थित अपने बहनोई कवीन्द्र पाण्डेय के घर में छुप गया। उसने घटना को अकेले ही अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि पुलिस ने तिवारी के बहनोई कवीन्द्र को उसे पनाह देने के आरोप में गिरफ्तार किया है। उसकी पत्नी को भी हिरासत में लिया गया है।
Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *