दलितों पर फायरिंग की जांच के लिए माले टीम मिर्जापुर रवाना

लखनऊ। भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने दलितों के पट्टे की भूमि पर कब्जे को लेकर मिर्जापुर जिले के हलिया थानांतर्गत कोलहा गांव में बीते शुक्रवार को हुए संघर्ष व फायरिंग की घटना पर गहरी चिंता प्रकट की है। पार्टी के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने घटना से जुड़े सारे तथ्यों का पता करने के लिए भाकपा (माले) की एक जांच टीम उक्त गांव में भेजने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि जमीन को लेकर दलितों और सवर्ण भूस्वामियों के बीच हुए संघर्ष में महिलाओं समेत कई गंभीर रूप से घायल हैं। दलितों पर लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग की खबर मिली है।

उन्होंने कहा कि कमजोर वर्ग को न्याय दिलाने में स्थानीय प्रशासन की भूमिका पर भी गौर करना जरूरी है। योगी सरकार में वैसे भी दलितों का उत्पीड़न बढ़ा है। वोट के लिए भाजपा दलित प्रेम का नाटक करती है, जबकि हकीकत में दलितों को प्रदेश की जेलों में ठूंसा गया है। उनकी हत्या और उनपर हमले की घटनाएं बढ़ी हैं। उन्होंने बताया कि मिर्जापुर के घटनास्थल का दौरा करने वाली भाकपा (माले) की जांच टीम राज्य स्थायी समिति के सदस्य शशिकांत कुशवाहा (चंदौली), राज्य कमेटी की सदस्य जीरा भारती (मिर्जापुर) और जिला सचिव नंदलाल को लेकर गठित की गई है। यह टीम शनिवार को घटनास्थल के लिए रवाना हो गई। टीम के सदस्य पीड़ितों से भी मिलेंगे।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *