समाज को बांटना व सद्भाव बिगाड़ना भाजपा की साजिष का हिस्सा-अखिलेश

लखनऊ (ईएमएस)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जातिवाद और साम्प्रदायिक उन्माद लोकतंत्र के लिए अभिशाप है। भाजपा जातिवादी राजनीति को सफलता के लिए आसान तरीका मानती है। समाज को बांटना और परस्पर सद्भाव को बिगाड़ना उनकी साजिश का हिस्सा है। विकास में अवरोध पैदा करना भी उनकी फितरत में है। समाजवादी पार्टी सार्थक और सकारात्मक राजनीति में विश्वास रखती है और जाति-धर्म की विभेदकारी नीतियों से परहेज करती है।
सपा मुखिया अखिलेश यादव से शुक्रवार को यहां कई लोगों से मुलाकात की। मथुरा के समाजवादी नेता प्रदीप चैधरी, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुछ छात्र नेताओं के अतिरिक्त तमिलनाड़ु प्रदेश अध्यक्ष ने अखिलेश यादव का अंगवस्त्रम् पहनाकर स्वागत किया। हरिद्वार के बाबा जी ने श्री यादव को आर्शीवाद दिया। श्री यादव ने कहा कि राज्य में कानून का राज नहीं रह गया है। सबसे बड़ा संकट निर्दोषों के सामने है। कुछ अधिकारी हैं जो भाजपा के इशारे पर फर्जी केस लगा रहे है। उनके विरूद्ध तथ्य एकत्र किए जा रहे हैं। समय आने पर ऐसे अधिकारी कार्यवाही से बच नहीं पाएंगे। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी सामाजिक न्याय की पक्षधर है और हमारी मांग है कि जाति जनगणना के आधार पर आनुपातिक अधिकार, अवसर और सम्मान दिया जाए। सभी के साथ न्याय संगत व्यवहार हो। उन्होंने कहा कि मथुरा में समाजवादी सरकार के कार्यों की नाम पट्किा को भाजपा के इशारे पर हटाया जा रहा है। श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में यह शिलान्यास का शिलान्यास तथा उद्घाटन का उद्घाटन की नई परम्परा विकसित हुई है जो लोकतंत्र के लिए स्वस्थ तरीका नहीं है।
Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *