बलात्कार का वीडियो वायरल होने पर दलित किशोरी ने की आत्महत्या

मैनपुरी। दुष्कर्म और छेड़खानी का वीडियो वायरल होने के बाद एक दलित किशोरी ने आत्महत्या कर ली। गुस्साए परिजनों ने किशोरी का शव रखकर जाम लगा दिया। पुलिस ने पांच आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। फिलहाल आरोपी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक, जिला मुख्यालय के समीपवर्ती गांव निवासी 14 वर्षीय दलित किशोरी खेत पर गई थी। गांव के ही मोंटी यादव ने उसे पकड़ लिया। उसके साथ रेप किया और वीडियो बना लिया। उसके बाद फोटो-वीडियो अपने दोस्त कौशल, मोहित पुत्रगण रामनरेश यादव, पंकज पुत्र श्यामलाल, उमेश पुत्र मानसिंह राठौर को दे दिए। आरोप है कि इसी वीडियो के सहारे आरोपी किशोरी से एकांत में मिलने का दबाव बनाने लगे। संबंध न बनाने पर आरोपियों ने किशोरी को जान से मारने और वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगे।

पीड़िता ने पूरे मामले की जानकारी अपने पिता को दी। पिता आरोपियों के घर पहुंचा और पुत्री को परेशान न करने के लिए आग्रह किया। इस दौरान आरोपियों ने दुस्साहस दिखाते हुए पीड़िता के पिता के साथ ही मारपीट कर दी। रविवार को आहत पिता की गुहार पर ग्रामीणों ने दोनों पक्षों को बैठाकर पंचायत की। आरोपियों की दबंगई के सामने पंचों की एक न चली। पंचायत के सामने ही आरोपी पीड़िता के पिता को ही धमकाने लगे। इसी बीच आरापियों ने वीडियो और फोटो वायरल भी कर दिए। पहले रेप और फिर पिता के साथ मारपीट से क्षुब्ध किशोरी ने 12 अगस्त को जहर खा लिया। परिजन पीड़िता को मैनपुरी जिला अस्पताल लेकर गए। यहां हालत बिगड़ी तो चिकित्सकों ने उसे सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। सैफई में किशोरी के शव का पोस्टमार्टम होने के बाद सोमवार को परिजन उसके शव को लेकर मैनपुरी पहुंचे। पूरे घटनाक्रम में पुलिस की शिथिलता से व्यथित परिजनों ने भोगांव-मैनपुरी मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *