माकपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग

लखनऊ (ईएमएस)। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्सर्वादी) ने मिर्जापुर-सोनभद्र जनपदों में स्थानीय प्रशासन द्वारा आदिवासियों और वनवासियों के उत्पीड़न का विरोध किया है। माकपा के राज्य सचिव हीरालाल यादव ने बताया कि जंगल में अर्से से जमीन जोत बो रहे आदिवासियों की जमीन पर सरकार जबरन कब्जा कर रही है। विरोध करने पर उन्हें फर्जी मुकदमों में फंसाकर जेल भेजा जा रहा है, उनके मुकदमों को वापस ले राज्य सरकार। उन्होंने कहा कि इन जनपदों के जंगल क्षेत्र में माफियाओं, दबंगों और बाबाओं ने सैकड़ों एकड़ जमीन पर कब्जा कर रखा है परन्तु वन विभाग व पुलिस की उनके विरुद्ध कार्रवाई की हिम्मत नहीं पड़ती है। जनपद के डामनगंज और हलिया जंगल रेंजर द्वारा उत्पीड़न और अवैध कब्जा करने की कार्रवाई फौरन रोकी जाय और माकपा कार्यकर्ताओं पर से फर्जी धाराओं में दर्ज मुकदमा वापस लिया जाए।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *