भाजपा को राम के नाम पर वोट मांगने का कोई अधिकार नहीं-संजय राउत

अयोध्या। सहयोगी दल होने के बावजूद करीब-करीब हर मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी को घेरने वाली षिवसेना अब राम मंदिर निर्माण को लेकर भी कटघरे में खड़ा किया है। शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है कि यदि मोदी सरकार ट्रिपल तलाक और एससी-एसटी एक्ट पर अध्यादेश ला सकती है तो राम मंदिर निर्माण पर क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि यदि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं होता है तो भाजपा को राम के नाम पर वोट मांगने का कोई अधिकार नहीं है।

षिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे की चर्चाओं से पहले पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राउत शुक्रवार को अयोध्या पहुंचे। यहां उन्होंने राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला के दर्शन भी किया। दर्षन के बाद संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि जब बाला साहब ठाकरे जीवित थे तो विवादित ढांचे को गिराकर भगवान राम को मुक्त किया गया। उन्होंने बताया कि नवंबर माह में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या आ सकते हैं। मुंबई की दशहरा रैली में श्री ठाकरे के अयोध्या आने की तिथि की घोषणा की जाएगी। श्री राउत ने कहा कि यदि वर्ष 2019 के बाद भाजपा ने रामलला को वनवास में रखा तो जनता भाजपा को वनवास पर भेज देगी। उन्होंने कहा कि अब तो राज्य और केंद्र दोनों जगह भाजपा की सरकार है। राष्ट्रपति पद पर भी भाजपा का कब्जा है। ऐसे में अयोध्या में राम मंदिर अब नहीं तो कब बनेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहे तो 24 घंटे के अंदर अध्यादेश ला सकती है। श्री राउत ने गंगा को प्रदूषण मुक्त करने की लड़ाई लड़ रहे पर्यावरणविद् जीडी अग्रवाल के निधन की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *