भाजपा धोखेबाज पार्टी, नहीं निभाए अपने वादे-अखिलेष यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने युवाओं के सपने तोड़े हैं। अन्नदाता किसानों को अपमानित किया हैं। अहिंसा के मसीहा गांधीजी और ‘जय जवान, जय किसान‘ का नारा देने वाले शास्त्रीजी के जन्मदिन पर शांतिपूर्ण किसानों के आंदोलन पर बर्बर लाठीचार्ज किया। भाजपा ने अपने वादे नहीं निभाए, वह धोखेबाज पार्टी है। देश और समाज को वह पीछे ले गई है। उन्होंने नौजवानों का आह्वान किया कि सन् 2019 में दिल्ली से और सन् 2022 में उत्तर प्रदेश से उन्हें भाजपा को हटाना जरूरी है।

सपा मुखिया श्री यादव ने बुधवार को यहां जौनपुर, मिर्जापुर, कानपुर, कन्नौज से आए साइकिल यात्रियों से भेंट कर रहे थे। उन्होंने कहा नौजवानों में जो उत्साह दिख रहा है वह उनकी परिवर्तन की चाह है। सबसे ज्यादा युवा शक्ति समाजवादी पार्टी के साथ है। गांधीजी के सपनों को भाजपा ने चूर-चूर कर दिया है जो सबसे ज्यादा काम करता है वही सबसे ज्यादा गरीब है। भाजपा को तो गांधी-शास्त्री जी का नाम लेने का भी हक नहीं है। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश का दुर्भाग्य है कि यहां बहू-बेटियां, व्यापारी और सामान्य नागरिक कोई भी सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। 4.5 वर्ष में 50,000 किसानों ने आत्महत्या की। शिक्षामित्रों की जाने गईं। एक एसडीएम, कई पुलिस कर्मियों ने जानें दी। एक पुलिस आरक्षी की हत्या हो गई। शहर के एक सम्भ्रांत नागरिक की बेलगाम पुलिस ने गोली मार कर हत्या कर दी।

श्री यादव ने कहा कि भाजपा जाति-धर्म के झगड़े लगाकर वोट लेती है। समाजवादी पार्टी सिद्धांत पर चलने वाली पार्टी है। सबसे ज्यादा विकास समाजवादी सरकार के समय हुआ है। भाजपा रागद्वेष और बदले की भावना से निर्णय ले रही है। भाजपा ने सुश्री सुधा सिंह का यशभारती सम्मान छीन लिया। भाजपा किसानों को आतंकवादी बता रही है। एक तो किसानों के साथ नाइंसाफी की गई। भाजपा ने अपना वायदा नहीं निभाया और अब किसानों को डराने तथा उनकी आवाज बंद करने के लिए लाठी चलाकर दमन किया जा रहा है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से आज 1200 साइकिल यात्रियों ने भेंट की। मिर्जापुर, जौनपुर, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया एवं कन्नौज जनपद के सभी विधानसभा क्षेत्रों में साइकिल यात्रा के द्वारा नौजवानों ने जनसम्पर्क किया। इस यात्रा में जगह-जगह नौजवानों की टोलियां जुड़ती गई थी।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *