हो सकती है पं. दीन दयाल उपाध्याय की मौत की सीबीआई जांच

अम्बेडकरनगर। भारतीय जनसंघ के सह संस्थापक पं. दीन दयाल उपाध्याय के मौत प्रकरण की सीबीआई जांच की मांग पर कवायद शुरू हो गयी है। इस संबंध में केन्द्र और प्रदेश सरकार के अधिकारियों के बीच लिखा-पढ़ी चल रही है। इससे जांच की मांग करने वाले बीजेपी नेता राकेश गुप्ता काफी उत्साहित हैं। उन्होंने गत वर्ष सरकार को पत्र लिखकर पं. दीन दयाल उपाध्याय की मौत के मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। इस प्रकरण में सरकार द्वारा रेलवे के एसपी व आईजी से रिपोर्ट भी तलब की गयी है। राकेश का कहना है कि 11 फरवरी, 1968 को मुगलसराय रेलवे स्टेशन पर पं. दीन दयाल उपाध्याय की हत्या हुई थी। पंडित जी दीन, दुखियों एवं मजलूमों की सेवा के लिए कार्य करते थे, जिससे विपक्षी पार्टियों के लोग जलते थे और हत्या का कारण भी यही रहा। बताया यह भी गया कि पं. उपाध्याय के मौत प्रकरण में मुगलसराय स्टेशन पर भी मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसके दस्तावेज गायब हो गये हैं। तत्कालीन समय में कुछ व्यक्तियों की गिरफ्तारी भी हुई थी, लेकिन मामला दबा दिया गया था। राकेश ने बताया कि रेलवे के एसपी का फोन उनके पास आया था कि पं. उपाध्याय के मौत प्रकरण की जांच से सम्बंधित दस्तावेज मांगे गए हैं और आप का भी बयान दर्ज होना है। इसके अलावा केन्द्र और प्रदेश सरकार के अधिकारियों में आपस में लिखा-पढ़ी भी की गयी है। उम्मीद है कि मामले की शीघ्र ही सीबीआई जांच शुरू होगी। राकेश द्वारा मौत के प्रकरण पर हुई कार्यवाही के मामले में सूचना का अधिकार के तहत जानकारी भी मांगी गयी थी, जिसे केन्द्र के सेक्रेटरी द्वारा प्रदेश सरकार को अग्रसरित किया गया है। इसके अलावा भारत सरकार के अंडर सेक्रेटरी एसपीआर त्रिपाठी द्वारा प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र प्रेषित किया गया है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *