न्यू फरक्का एक्सप्रेस पटरी से उतरी, पांच लोगों की मौत, मुआवजे की घोषणा

रायबरेली/लखनऊ उत्तर प्रदेश में रायबरेली के निकट बुधवार की सुबह न्यू फरक्का एक्सप्रेस (14003) के पटरी से उतरने से कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है जबकि तकरीबन दो दर्जन लोग घायल हुए हैं। प्रदेश के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने सुबह बताया था कि हादसे में सात लोगों की मौत हुई है। लेकिन बाद में डीआरएम (मंडल रेल प्रबंधक) सतीश कुमार ने बताया कि हादसे में मरने वालो की संख्या फिलहाल पांच है। डीआरएम के मुताबिक पीजीआई लखनऊ और केजीएमयू लखनऊ में भर्ती एक-एक घायल यात्री की हालत काफी गंभीर बनी हुई है। उन्होंने बताया कुछ घायल यात्रियों को प्राथमिक उपचार के बाद उनके गंतव्य भेज दिया गया है।

पश्चिम बंगाल के मालदा टाउन स्टेशन से नयी दिल्ली जा रही एक एक्सप्रेस ट्रेन बुधवार की सुबह करीब छह बजे उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिला में हरचन्दपुर के बाबापुर के पास पटरी से उतर गई। ट्रेन का इंजन और आठ डिब्बे पटरी से उतर गए। इस दुर्घटना में पांच लोगों की मौत होने की पुष्टि हो गयी है। अधिकारियों ने बताया कि घायलों में 10 महिलाएं और छह नाबालिग शामिल हैं। इस बीच राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि गंभीर रूप से घायल लोगों में से चार का इलाज लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय में चल रहा है जबकि दो लोग संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती हैं। उन्होंने बताया कि अन्य घायलों को इलाज के लिए रायबरेली ले जाया गया है।

उधर, रेल मंत्रालय के मुताबिक यात्रियों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई है। दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन के अन्य करीब 1000 यात्रियों को बसों से लखनऊ भेजा गया है जहां से वे अपनी आगे की यात्रा करेंगे।  अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों को नयी दिल्ली ले जाने के लिए विशेष ट्रेन की व्यवस्था की गई है जो लखनऊ से रवाना होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में बुधवार की सुबह न्यू फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना में हुई लोगों की मौत पर शोक जताया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने मोदी को उद्धृत करते हुए ट्वीट में कहा कि रायबरेली में ट्रेन दुर्घटना में हुई लोगों की मौत से बहुत दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिवार के साथ हैं और मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार, रेलवे और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल सभी दुर्घटनास्थल पर हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये और कम जख्मी लोगों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। गोयल ने ट्वीट किया, ‘‘रायबरेली में मारे गए और घायल हुए लोगों के परिवार के प्रति मैं संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। राहत कार्यों के लिए मैं अधिकारियों के संपर्क में हूं।’’ रेल मंत्री ने उत्तरी सर्किल के रेल सुरक्षा आयोग से दुर्घटना की जांच कराने के आदेश दिए हैं।

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये जबकि घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। हादसे में हुई लोगों की मृत्यु पर शोक जताने के लिए कैबिनेट की बैठक करने के बाद मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, स्वास्थ्य अधिकारियों, एनडीआरएफ को बचाव एवं राहत कार्यों में हर संभव सहायता मुहैया कराने का निर्देश दिया है। एनडीआरएफ की 40 सदस्यीय टीम और राज्य प्रशासन तथा रेलवे के शीर्ष अधिकारी मौके पर पहुंच गये। एडीजी ने बताया कि दुर्घटना में किसी आतंकी साजिश के पहलू की जांच के लिये एटीएस की टीम भी मौके पर भेजी गयी है। हादसे के बाद उत्तर रेलवे ने हेल्पलाइन नंबरों की घोषणा की है। जनसंपर्क अधिकारी विक्रम सिंह के अनुसार वाराणसी हेल्पलाइन नंबर 0542-2503814, लखनऊ हेल्पलाइन नंबर 9794830975, 9794830973, प्रतापगढ़ हेल्पलाइन नंबर 05342 220492 और रायबरेली के लिए हेल्पलाइन नंबर 0535-2213154 है। हादसे के कारण इस मार्ग की सभी अप और डाउन लाइनों पर यातायात बाधित है। उत्तर मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने बताया कि दुर्घटना के कारण 13 ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *