नोटबन्दी, जीएसटी भाजपा की अनुभवहीनता का परिणाम-गुलाम नबी आजाद

गोण्डा। राज्य सभा में नेता विपक्ष और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी को देश चलाने का अनुभव नहीं है। देश में नोटबन्दी और जीएसटी इसी अनुभवहीनता का परिणाम है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने सदन में आज तक एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया। इसके साथ ही उन्होंने अब तक एक भी प्रेस वार्ता नहीं की है। आजाद ने कहा कि मोदी जी सदन में बोलते नहीं और सदन के बाहर बोलते थकते नहीं।

श्री आजाद रविवार को यहां जिला मुख्यालय पर अदम गोंडवी खेल मैदान में पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद से देश मे अब तक लाखों लघु और मध्यम उद्योग बन्द हो गए हैं, जिनमें काम करने वाले करोड़ों मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। इसी के चलते यूपीए शासनकाल में बंगलुरू और हैदराबाद में स्थापित आईटी पार्क बन्द होने से 56 हजार पढ़े-लिखे नौजवान बेरोजगार हो गए हैं। नोटबन्दी के कारण देश के 35 लाख लोग बेरोजगार हुए, जिनके परिवारों के करीब दो करोड़ लोग भुखमरी के कगार पर पहुँच गए हैं। कांग्रेस नेता ने चुटकी लेते हुए कहा कि मोदी जी की गणित कमजोर है। इसीलिए वह 10 करोड़ बेरोजगारों को रोजगार देने का वायदा करके केवल साढ़े तीन लाख लोगों को रोजगार देकर खुशी मना रहे हैं। उन्हें समझना चाहिए कि साढ़े तीन लाख और 10 करोड़ में कितना अंतर होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार में विपक्ष समेत अखबार और न्यूज चैनलों का गला घोंट दिया गया है। दुनिया के किसी भी लोकतंत्र में ऐसी तानाशाही कहीं देखने को नहीं मिलेगी। उन्होंने अफसोस व्यक्त किया कि इस अव्यवस्था के खिलाफ देश की जनता को सड़क पर होना चाहिए था किंतु ऐसा नहीं हो रहा है।

पार्टी सांसद प्रमोद तिवारी ने इस मौके पर कहा कि भाजपा को ‘मंदिराइटिस’ की बीमारी है। चुनाव नजदीक आने पर उसे मन्दिर याद आता है किंतु चुनाव खत्म होते ही भूल जाती है। उन्होंने कहा कि 2019 में नरेंद्र मोदी इतिहास बन जाएंगे। तिवारी ने कहा कि देश के चैकीदार के सामने कांग्रेस का शेर दहाड़ रहा है किंतु उसे जवाब देते नहीं बन रहा है। उन्होंने कहा कि 1100 करोड़ रुपये प्रति विमान किसके खाते में गया। इसका जवाब देना होगा। इस मौके पर राज्य सभा सदस्य संजय सिंह, पूर्व मंत्री अमिता सिंह, पूर्व सांसद विनय कुमार पांडेय, पूर्व विधायक रघुराज उपाध्याय, प्रदेश महामंत्री सत्यदेव सिंह, जिलाध्यक्ष बीएल चैबे, नगर अध्यक्ष अब्दुल रहमान, भगत राम मिश्र, प्रद्युम्न शुक्ला, शिव कुमार दुबे, हनुमान प्रसाद, सुभाष पांडेय, राघव राम मिश्र, कुतुबुद्दीन खान आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *