भाजपा को सत्ता से हटाना राष्ट्रधर्म

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा के पीछे ऐसी ताकतें हैं जो षड़यंत्रकारी हैं। उनके इरादे नेक नहीं है। भाजपा जातिवाद के आधार पर नफरत पैदा करती है। विपक्षी नेताओं के प्रति उसका व्यवहार शत्रुतापूर्ण है। सत्ता का घोर दुरूपयोग करने के साथ उसने संवैधानिक संस्थाओं को भी कमजोर किया है। उसका आचरण अलोकतांत्रिक है। इसलिए देशहित में भाजपा को रोकना और सत्ता से हटाना राष्ट्रधर्म है।

श्री यादव ने बुधवार को यहां पार्टी के प्रमुख नेताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा के शासन में कानून का राज नहीं है। मुद्दों से भटकाकर ऊल-जूलूल बातें करना उसकी आदत में शुमार हैं। सच्चाई को खत्म करने और बुराई को प्रश्रय देने में भाजपा को कतई अपराध बोध नहीं होता है।

 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने अनेक वार रूम बनाएं हैं जिनका इस्तेमाल झूठ गढ़ने और भ्रमजाल के निर्माण के लिए किया जाना है। भयंकर जुमला मण्डली के ढाई लोगों ने अब व्यक्तिगत टिप्पणियां देनी भी शुरू कर दी हैं। सब जानते हैं कि राजनीति में व्यक्तिगत बातें वही करते हैं जो घबराये हुए होते हैं। लेकिन जुमलों से झूठ, लूट और भ्रष्ट कारतूतों पर पर्दा नहीं पड़ने वाला है।

 

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोक दल का जो गठबंधन बना है देशहित में उसकी सभी ने सराहना की है। इस गठबंधन का वैचारिक आधार है। इसके चुनाव एजेंडा में विकास पर बल होगा।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *