अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के चीफ से मिलीं प्रियंका

मेरठ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण से बुधवार की मुलाकात की। हालांकि स्वयं प्रियंका ने कहा कि इसे राजनैतिक चष्मे से नहीं देखा जाये लेकिन वहीं कांग्रेस के इस कदम को राजनीतिक हलके में बसपा सुप्रीमो मायावती पर पलटवार माना जा रहा है। क्योंकि मंगलवार को ही बसपा नेत्री मायावती ने कांग्रेस से किसी भी प्रदेष में चुनावी गठबंधन नहीं करने का ऐलान किया था।

चंद्रशेखर के साथ प्रियंका की अचानक मुलाकात को राजनीतिक रूप से उत्तर प्रदेश के दलितों को आकर्षित करने और बसपा को मजबूत टक्कर देने का प्रयास माना जा रहा है।

भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर से अस्पताल में मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने संवाददाताओं से कहा कि इस लडके (चंद्रशेखर) का जोश पसंद आया। अच्छा लगा कि वो संघर्ष करता है। अपने लोगों की, नौजवानों की आवाज उठाता है इसलिए मिलने आयी थी।

जब संवाददाताओं ने मुलाकात के राजनीतिक मायने को लेकर सवाल किया तो प्रियंका गांधी ने कहा कि आप इसका राजनीतिकरण करना चाहते हैं तो कीजिए, सिर्फ हाल जानने आयी थी। प्रियंका गांधी के साथ उनके सहयोगी एवं समकक्ष पदाधिकारी ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेष अध्यक्ष राज बब्बर, कांग्रेस विधानमण्डल दल के नेता अजय कुमार लल्लू आदि मौजूद थे।

 

वहीं प्रियंका गांधी से मिलने के बाद भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर ने संवाददाताओं से कहा कि मुझे तो आप लोगों से जानकारी मिली। वह (प्रियंका) तबियत पूछने आयी थीं। मुलाकात के राजनीतिक मायने पूछने पर चंद्रशेखर ने कहा कि मैं सियासी व्यक्ति नहीं हूं। मैं बहुजन समाज के लिए लडता हूं। वह (प्रियंका) कोई राजनीतिक बात करने वो आयी नहीं थीं। ना कुछ पूछ रहीं थीं।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *