आपसी सहमति से छह दिसंबर से होगा मंदिर का निर्माण-वेदांती

बहराइच। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद तथा रामजन्म भूमि न्यास कार्यकारिणी के अध्यक्ष डॉ. रामविलास दास वेदांती ने एक बार फिर कहा है कि अयोध्या में आगामी छह दिसम्बर से श्रीराम जन्म भूमि पर रामलला का भव्य मंदिर का निर्माण प्रारम्भ हो जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि कोर्ट का निर्णय कब आएगा, इसका कोई ठिकाना नहीं है। कोर्ट का निर्णय आने में लाखों वर्ष लगा सकता है। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि बिना कोर्ट के अब यहां आपसी सहमति तथा साम्प्रदायिक सौहार्द के आधार पर मंदिर का निर्माण शुरू होगा।

डा. वेदांती शुक्रवार को यहांयोगी आदित्यनाथ सरकार में स्वतंत्र प्रभार की राज्यमंत्री अनुपमा जायसवाल के घर पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। डॉ. वेदांती ने कहा कि जून को जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या आए थे तो मैंने कहा था कि 2019 लोकसभा चुनाव से पहले मंदिर निर्माण का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। हम उसी दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। कोर्ट का निर्णय कब आएगा, इसका कोई ठिकाना नहीं है। कोर्ट का निर्णय आने में लाखों वर्ष लगा सकता है। किसी भी पक्ष कोई दिक्कत होती है तो वह दरख्वास्त दे देता है और तारीख टल जाती है। हमें कोर्ट से कोई आशा नहीं है। कोर्ट से आज तक कोई काम नहीं हुआ है। इसी कारण बिना कोर्ट के अब यहां आपसी सहमति तथा साम्प्रदायिक सौहार्द के आधार पर मंदिर का निर्माण शुरू होगा। उन्होंने कहा कि हिन्दू और मुस्लिम मिलकर अयोध्या में वहां राम मंदिर बनाएंगे, जहां पर जहां रामलला विराजमान हैं। मुस्लिम भाई चाहें तो अयोध्या से बाहर लखनऊ में या जहां भी वे कहें, मस्जिद बना देंगे, लेकिन मस्जिद बाबर के नाम पर नहीं होगी।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *