मोदी के डर से एकजुट हो रहे विपक्षी दल

लखनऊ । केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने कहा है कि विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डर से एकजुट हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि दरअसल वे सभी प्रधानमंत्री मोदी जैसे सशक्त नेता के डर की वजह से एक साथ आ रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ये पार्टियां मोदी को बदनाम करना चाहती हैं।

अठावले ने यहां पत्रकार वार्ता में अठावले ने कहा कि कोलकाता में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की रैली में तमाम विपक्षी दलों के नेता एकजुट हुए। ये पार्टियां अनर्गल आरोप लगाकर मोदी को बदनाम करना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा और नीति नहीं है, लिहाजा उनका गठबंधन कोई खास असर नहीं दिखा पाएगा।

श्री अठावले ने उत्तर प्रदेश में बने सपा-बसपा के गठबंधन का जिक्र करते हुए कहा कि इससे भाजपा पर कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि ये दोनों दल अपने कोर मतदाताओं से एक-दूसरे के पक्ष में मतों का अंतरण नहीं करा पाएंगे। केन्द्रीय मंत्री ने बसपा प्रमुख मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि जब उन्होंने पूर्व में भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनायी थी, तब उन्हें भाजपा साम्प्रदायिक नहीं लगती थी। मायावती में अगर नैतिकता है तो उन्हें भाजपा के साथ होना चाहिये था।

रिपब्लिकन पार्टी आफ इण्डिया के अध्यक्ष अठावले ने उत्तर प्रदेश में भाजपा के साथ तालमेल करके लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताते हुए कहा कि राज्य में 12 प्रतिशत दलित मतदाता उनके साथ है। अगर भाजपा प्रदेश में उनकी पार्टी को साथ ले तो वह बसपा को नुकसान पहुंचा सकती है। अयोध्या मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह मामला अदालत में लम्बित है, लिहाजा उसके फैसले का इंतजार किया जाना चाहिये।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *