मायावती का 63 वां जन्म दिन आज, गठबंधन पर देंगी संदेश

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती का 63 वां जन्मदिन कल 15 जनवरी को इस बार लखनऊ और दिल्ली दोनों जगह मनाया जाएगा। इसके लिये पार्टी कार्यकर्ता धूमधाम से जन्म दिन मनाने की व्यापक तैयारियां कर रहे है। वहीं दूसरी ओर जन्मदिन कार्यक्रम के कार्यक्रम के जरिए बसपा मुखिया अपनी पार्टी की कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संदेश भी देंगी। सबसे विषेष बात यह है कि इस कार्यक्रम का जिलों में सजीव प्रसारण भी किया जायेगा। अपने संदेश में बसपा नेत्री मायावती समाजवादी पार्टी से गठबंधन के बाद बदले समीकरण के बारे में और आगामी लोकसभा चुनाव में उन्हें क्या करना है, यह संदेश देंगी।
मायावती का जन्मदिन हर साल ‘जन कल्याणकारी दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। कल लखनऊ में पार्टी कार्यालय पर जन्मदिन मनाया जाएगा। बसपा प्रमुख का जन्मदिन हर साल ‘जन कल्याणकारी दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन वह अपने कार्यालय पर प्रदेश पदाधिकारियों और लखनऊ मंडल के पदाधिकारियों से मिलती हैं। यहीं पर अपनी लिखी हुई पुस्तक ‘मेरे संघर्षमय जीवन का सफरनामा’ का लोकार्पण करती हैं। इसके अलावा प्रदेश भर में जिला मुख्यालयों पर भी उनका जन्मदिन मनाया जाता है। वहां पर पार्टी के जोनल स्तर के नेता पहुंचते हैं। गरीबों को भोजन, कपड़े और अन्य जरूरी सामान बांटते हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्म दिन को लेकर शहर में पार्टी कार्यकर्ताओं ने कई जगह पर उनके होर्डिंग और पोस्टर लगाये है। जिसमें उनके जन्म दिन की बधाईयों के संदेश दिये गये है।
मायावती दोपहर बाद वह दिल्ली चली जाएंगी। वहां जन्मदिन समारोह में सहयोगी दलों के नेताओं के शामिल होने की उम्मीद है। मायावती-अखिलेश के बसपा-सपा गठबंधन की घोषणा के बाद अब ऐसे कयास लगाये जा रहे है कि कल अपने जन्म दिन के अवसर पर वह सीटवार बंटवारे का ऐलान कर दें। क्योंकि दो दिन पूर्व साझा प्रेस कांफ्रेस में मायावती ने कहा भी है कि जल्द ही यह ऐलान कर दिया जाएगा। दोनों दल यूपी की 80 में से 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।
पार्टी सूत्रों का कहना है कि बसपा के सहयोगी दलों सपा, जेडीएस, छत्तीसगढ़ कांग्रेस, इनेलो, आरजेडी, तृणमूल कांग्रेस सहित कई दलों के नेताओं को भी जन्मदिन में शामिल होने का न्योता दिया गया है। इन सभी से दिल्ली में मुलाकात ठीक रहेगी। वहां से सभी पार्टियों की एकजुटता यही वजह है कि जन्मदिन लखनऊ के अलावा दिल्ली में भी मनाने का निर्णय लिया गया है। सूत्र बताते हैं कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा मुखिया मायावती की संयुक्त रैलियों का कार्यक्रम भी तय हो चुका है। दोनों ही रैलियां हर मंडल में करेंगे। इसके अलावा अलग से भी जनसभायें भी यह नेता करेंगे। जन्मदिन पर इन चुनावी सभाओं के ऐलान की भी उम्मीद है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *