गैर विवादित भूमि पर तत्काल कार्य करने की अनुमति मिले

प्रयागराज । अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद स्थल के पास अधिगृहीत 67 एकड जमीन को उसके मूल मालिकों को लौटाने की अनुमति मांगने के लिए केन्द्र द्वारा उच्चतम न्यायालय का रूख करने के फैसले का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को स्वागत किया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमें गैर विवादित भूमि पर तत्काल कार्य करने की अनुमति मिलनी ही चाहिए।

उल्लेखनीय है कि एक नई याचिका में केन्द्र ने कहा कि उसने 2.77 एकड विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद स्थल के पास 67 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया था। याचिका में कहा गया कि राम जन्मभूमि न्यास ने 1991 में अधिगृहीत अतिरिक्त भूमि को मूल मालिकों को वापस दिए जाने की मांग की थी।

वहीं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री एवं राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार का ये मानना है कि राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द हो इसलिए सरकार हर पहलू पर, जो संविधान के तहत हो सकता है, उसका प्रयास कर रही है।

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि कांगे्रस के बडे नेता और एडवोकेट कपिल सिब्बल ने सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर प्रयास किया कि ये पूरा मसला चुनाव के बाद तक टल जाए। उस दिशा में उन लोगों ने कार्य किया और रोडे अटकाये।

उन्होंने कहा कि हम लोगों का हालांकि प्रयास है कि मंदिर निर्माण जल्द से जल्द हो क्योंकि ये आस्था का विषय है और पूरा भारत चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द हो।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *