MP जीतने के लिए अखिलेश ने बनायी यह रणनीति

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी अपने प्रत्याशी खड़े करेगी।
समाजवादी पार्टी के जिताऊ और निष्ठावान प्रत्याशी होगें। उन्होने कहा कि पार्टी संगठन को मजबूत करना और चुनावों में हिस्सा लेना साथ-साथ होगा।
चुनाव में समय कम है अतएव बूथ स्तर और विधानसभा स्तर पर सुनियोजित ढंग से काम करना है। जनसंपर्क कार्य में तेजी लानी होगी। पार्टी को मजबूत बनाने के लिए संगठन कार्य में ज्यादा समय देना होगा।
सपा मुखिया अखिलेश यादव मंगलवार को यहां मध्य प्रदेश के पार्टी पदाधिकारियों, प्रभारियों तथा प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर पार्टी उपाध्यक्ष किरनमय नंदा, मध्य प्रदेश अध्यक्ष गौरी यादव, इंदौर के पूर्व सांसद कल्याण जैन, चंद्रपाल सिंह, सुरेंद्र नागर, नीरज शेखर सांसद पूर्व मंत्री राजेंद्र चैधरी, एमएलसी एसआरएस यादव तथा अरविन्द कुमार सिंह, वसीम बरेलवी भी उपस्थित थे।
इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकारें नकारात्मक प्रशासनिक व्यवस्थाएं चला रही है। भाजपा की मध्य प्रदेश में सरकार है जिसने राज्य को बर्बाद के कगार पर पहुंचा दिया है। किसानों को कर्जमाफी के नाम पर धोखा मिला है।
उनके आंदोलन पर दमनचक्र चला है। जीएसटी-नोटबंदी से सभी परेशान हैं। बैंको का पैसा लेकर लोग विदेशो में भाग गए हैं। विकास को जाति और धर्म में बांट दिया गया है। विकास और सामाजिक न्याय दोनों का संतुलन होगा।
उन्होंने कहा कि वे 19-20 जुलाई 23018 को मध्य प्रदेश में रहेगें। भोपाल में राज्यभर के कार्यकर्ताओं की बैठक को भी संबोधित करेंगे तथा मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों पर चर्चा करने के बाद रणनीति पर विचार करेंगे।
उनकी मांग है कि आधार के सहारे जनगणना में जातीय गणना भी हो ताकि सानुपातिक रूप से समाज के सभी वर्गो की भागीदारी तय हो सके।
उन्होने कहा कि मध्य प्रदेश मेें लोग भाजपा से नाराज हैं परन्तु कांग्रेस से भी खुष नही है। समाजवादी पार्टी को इसलिए चुनाव में मजबूत प्रत्याशी उतारने होगें और संगठन सुदृढ़ करना होगा।
मध्य प्रदेश से आए पार्टी नेताओं ने कहा कि समाजवादी पार्टी की व्यापक उपस्थिति से मध्य प्रदेश में हलचल है। अखिलेश यादव के व्यक्तित्व में आकर्षण है। किसानों, नौजवानों का रूझान समाजवादी पार्टी की तरफ है।
यूपी के विकास की सूचना मध्य प्रदेश के गरीबों को है। वे समाजवादी सरकार की योजनाओं से प्रभावित हैं। वहां किसानों को भुगतान एक-एक साल तक नहीं होता है। उनका शोषण होता है। युवाओं के लिए वे प्रेरणा स्रोत हैं। वे मध्य प्रदेश के चुनावों को प्रभावित कर सकते है।
बैठक में कहा गया कि मंदसौर में पिछले दिनों हुए किसान आंदोलन में छह किसान शहीद हुए। समाजवादी पार्टी किसान की समस्याओं को लेकर संषर्घ करती रही है। भाजपा मतदाताओं को बहकाने का काम करती है। इससे सतर्क रहना है।
उन्होने कहा मध्य प्रदेश मंे समाजवादी पार्टी की भूमिका बड़ी होगी लेकिन साथ ही दल के लोगों को भी बड़ा दिल करना पड़ेगा।
Share this

media mantra news

Technology enthusiast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *