हां, हमारे दामन पर हैं खून के धब्बे-खुर्शीद

अलीगढ़ । कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपने दामन पर ‘खून के धब्बे‘ होने की बात स्वीकार करते हुए परोक्ष रूप से लोकतंत्र के खतरे में होने की चेतावनी दी और कहा कि अपना हश्र ऐसा मत करो कि 10 साल बाद कोई सवाल पूछने वाला भी ना मिले। फिलहाल खुर्षीद के इस बयान से पार्टी ने किनारा कर लिया है। 
पूर्व मंत्री खुर्शीद ने सोमवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के आंबेडकर हाॅल में एक छात्र आमिर नामक एक छात्र ने सवाल पूछा था कि मलियाना, हाशिमपुरा, मुजफ्फरनगर समेत ऐसे स्थानों की लम्बी फेहरिस्त है जहां कांग्रेस के शासनकाल में साम्प्रदायिक दंगे हुए। उसके बाद बाबरी मस्जिद का ताला खुलना और फिर उसकी शहादत, जो कांग्रेस के शासनकाल में ही हुई।
कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के इन तमाम धब्बों को आप किन शब्दों के जरिये धोएंगे। इस पर कांग्रेस नेता ने अपने जवाब में कहा कि ये राजनीतिक सवाल है। हमारे दामन पर खून के धब्बे हैं। कांग्रेस का मैं भी हिस्सा हूं तो मुझे मानने दीजिये कि हमारे दामन पर खून के धब्बे हैं।
इसी वजह से आप हमसे कह रहे हैं कि अब कोई वार आप पर करे तो हमें बढ़कर उसे रोकना नहीं चाहिये ? उन्होंने प्रश्नकर्ता की तरफ इशारा करते हुए कहा कि हम ये धब्बे दिखाएंगे कि तुम समझो कि ये धब्बे हम पर लगे हैं ये धब्बे तुम पर ना लगें।
तुम वार इन पर करोगे, धब्बे तुम पर लगेंगे। हमारे इतिहास से सीखो और समझो। अपना हश्र ऐसा मत करो कि तुम 10 साल बाद अलीगढ़ यूनीवर्सिटी आओ और आप जैसा कोई सवाल पूछना भी ना मिले।
Share this

media mantra news

Technology enthusiast

One thought on “हां, हमारे दामन पर हैं खून के धब्बे-खुर्शीद

  • May 3, 2018 at 3:35 am
    Permalink

    चलो कुछ तो सद्बुद्धि आई।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *